धर्म-दर्शन

ऐसा मंदिर जहां दीवालों में लिखी है पूरी रामकथा...

-सैकड़ों साल पुराना रामजानकी मंदिर, बेजोड़ कारीगरी और नक्काशी के लिये है प्रसिद्ध -कर्नाटक व राजस्थान के कारीगरों ने मंदिर का किया था निर्माण, एक ही पत्थर पर बना है मंदिरहमीरपुर। उत्तर प्रदेश के हमीरपुर जिले के खंडेह गांव में सैकड़ों साल पुराने रामजानकी मंदि..

आदिगुरू शंकराचार्य के अद्वैत संसार को अपना रहे कई देश

हमारी भारतीय संस्कृति के मूल में सभी तत्व मौजूद है, जिससे मानव शरीर और व्यवहार बना है। अमेरिका के नासा ने तो अब औंकार स्वर की गहराई में जाने के प्रयास शुरू किए हैं। हमारी संस्कृति कोई ढकोसला नहीं है। आदिगुरू शंकराचार्य ने सदियों पहले जो अद्वैत संसार को ..

विंटर वेकेशन को रोमांच से भर देगा मध्यप्रदेश का यह टूरिज्म स्पॉट...

  राजधानी भोपाल से 50 किलोमीटर दूर एक छोटा सा गांव। मध्यप्रदेश के रायसेन जिले में आने वाले इस गांव को लुटेरों ने कई बार लूटा, पुरातत्ववेत्ताओं के हाथों इस गांव को कई बार विध्वंस झेलना पड़ा। लेकिन आज ये न केवल मध्यप्रदेश का ऐतिहासिक स्थल इतिहास की रो..

17 साल बाद पहली बार ऐसा बना संयोग

चमोली। हरि भगवान बद्रीनाथ मंदिर के कपाट आज बंद होने हैं। रविवार देर शाम 7 बजकर 28 मिनट पर कपाट बंद किए जाएंगे। कंपाटबंदी की सारी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। 17 साल बाद पहली बार ऐसा संयोग बना है जब मंदिर के कपाट सांध्य बेला में बंद होंगे। इसके लिए मंदिर..

सूनी गोद भरती है यह देवी माँ

 स्वदेश वेब डेस्क। हिमाचल के मंडी जिला की लड़भडोल तहसील के सिमस गांव में एक देवी का मंदिर ऐसा है जहां पर निसंतान महिलाओं के फर्श पर सोने से संतान की प्राप्ति होती है। नवरात्रों में हिमाचल के पड़ोसी राज्यों पंजाब, हरियाणा और चंडीगढ़ से ऐसी सैकड़ों म..

मुट्ठी भर अनाज दे सकता है यह लाभ

स्वदेश वेब डेस्क। हिन्दू धर्म को सबसे बड़ा धर्म में मन गया है ज्योतिषशास्त्र के अनुसार इसे एक विशेष महत्व दिया गया है इसमें हर प्रकार की परेशानियों का उल्लेख भी किया गया है इसमें इतना ही नहीं बड़ी से बड़ी परेशानी का हल भी बताया गया है। आज ज्योतिषशास्त्र से..

निंदा का जहर मत उगलो

ग्वालियर। इस जगत में जिसको आत्मा का, आध्यात्म का ज्ञान नहीं है, अंत:कारण से वैराग्य भाव नहीं है, वह संसार मार्ग पर ही गमन करने वाला है। वह साधक बाह्य प्रपंचों में आनंद मानता है और दूसरे साधकों की प्रशंसा को ग्रहण नहीं कर पाता है। इसी कारण दूसरे साधकों की ..

इस मंदिर में विराजित है मां काली का शरीर

स्वदेश वेब डेस्क। रायपुर के आकाशवाणी तिराहा के मुख्य मार्ग पर स्थित काली मंदिर की लोकप्रियता प्रदेशभर में है। अंग्रेजों के शासनकाल में कामाख्या से आए नागा साधुओं ने जंगल में महाकाली के स्वरूप को निरूपित किया। तीन दिन जंगल में रुके और महाकाली को प्रतिष्ठाप..

शारदीय नवरात्र कब से होंगी शुरू, जानिए घट स्थापना का शुभ मुहूर्त

स्वदेश वेब डेस्क। शारदीय नवरात्र का त्योहार बहुत नजदीक है। जिसे भारत में बेहद ही उल्लास के साथ मनाया जाता है। इस साल नवरात्रि 21 सितंबर से शुरू होकर 29 सितंबर तक चलेंगे। बता दें कि नवरात्र का अर्थ है ‘नौ रातों का समूह’ इसमें हर एक दिन दुर्गा..

कैसे करें श्री गणेश की बिदाई

10 दिन श्री गणेश हमारे घर में विराजित रहे और अब उनकी विदाई होगी। 10 दिन तक हमने उन्हें प्रसन्न करने के हर प्रकार के जतन किए। उन्हें हर प्रकार का भोग लगाया। उनकी पूजन-अर्चन की।  परंपरानुसार कहा जाता है कि श्री गणेश को उसी तरह बिदा किया जाना चाहिए जैसे..

घर के मंदिर में ना दें पितरों को स्थान

घर में जहां आप मंदिर बनवाते हैं उसमें कभी भी अपने गुरुजनों और मृत पितरों का तस्वीर नहीं लगानी चाहिए। उनको घर के मंदिर में ना, बल्कि दक्षिण कोण में स्थान दें। हर घर में ईश्वर की आराधना को ही उनका धर्म बताया गया है। इसलिए  घरों में लोग मंदिर भी बनवाते ..

धार्मिक सौहार्द की बड़ी मिसाल

गोपेश्वर। चमोली जिले के विकास खंड जोशीमठ में साम्प्रदायिक सौहार्द व भाईचारे की मिसाल पेश करते हुए गुरूद्वारा प्रबंधक कमेटी जोशीमठ ने भारी बारिश को देखते हुए ईद की नमाज गुरूद्वारे में अदा करवाई। जनपद में हो रही भारी बारिश के कारण जोशीमठ में नमाज अदा करन..

छठ पूजा का क्या है महत्व, पढ़िए पूरी खबर

स्वदेश वेब डेस्क। बिहार और झारखंड का सबसे बड़ा पर्व छठ पूरे देश में बेहद धूमधाम के साथ मनाया जाता है। कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष के चतुर्थी से सप्तमी तिथि तक चलने वाला चार दिन का ये पर्व आज से खाए नहाय के दिन से शुरू हो गया है। छठ पूजा का सूर्योदय और सूर..

कनिपक्कम स्थित गणपति मंदिर की क्या है रोचक कहानी

स्वदेश वेब डेस्क। कनिपक्कम स्थित गणपति मंदिर कहते हैं कि इस मंदिर में मौजूद विनायक की मूर्ति का आकार हर दिन बढ़ता ही जा रहा है। इस बात से आपको भी हैरानी हो रही होगी, लेकिन यहां के लोगों का मानना है कि प्रतिदिन गणपति की ये मूर्ति अपना आकार बढ़ा रही है।इस..

आल्हा और उदल आज भी करते है इस देवी की आराधना

स्वदेश वेब डेस्क। अल्हा और उदल जिन्होंने पृथ्वीराज चौहान के साथ युद्ध किया था, वे माता शारदा के बड़े भक्त हुआ करते थे। इन दोनों ने ही सबसे पहले जंगलों के बीच मैहर मंदिर की खोज की थी जहाँ माता शीतला विराजमान है। इसके बाद आल्हा ने इस मंदिर में 12 सालों तक त..

त्रियुगीनारायण केदारनाथ कहाँ स्थित है जानिए

स्वदेश वेब डेस्क। जी हाँ, आपको बता दें कि ऐसा माना जाता है शिवरात्रि का वह पवित्र दिन है, जिस दिन भगवान शिव ने हिमालय के मंदाकिनी क्षेत्र के त्रियुगीनारायण में माता पार्वती से विवाह किया था। भगवान शिव के विवाह को लेकर कई तरह की कथाएं अलग-अलग धर्म ग्रंथों ..

शिव तांडव की अनोखी शिव प्रतिमा कहाँ स्थापित है, जानिए

महोबा। महोबा के विख्यात शिव तांडव मंदिर में उत्तर भारत की अनोखी शिव प्रतिमा स्थापित है। एक हजार साल से अधिक प्राचीन भगवान शंकर की तांडव नृत्य करती इतनी विशाल व सिद्ध मूर्ति उत्तर भारत में कहीं और नहीं पाई जाती। सावन के महीने में जब शिव पूजन व दर्शन के लिए..

कलयुग में भक्तों की सभी मनोकामना पूरी करते हैं बाबा भैरवनाथ

स्वदेश वेब डेस्क। जी हाँ, आज भी ऐसा माना जाता है कि जोधपुर स्थित बाबा भैरवनाथ इस कलयुग में भक्तों की सभी मनोकामना पूरी करते हैं। अगर आपको अपनी कुंडली के दोषों से मुक्ति या नई नौकरी और अपना भाग्य चमकाना है तो आप जोधपुर स्थित बाबा भैरवनाथ के मंदिर में अपनी ..

महाकालेश्वर उज्जैन मंदिर द्वादश ज्योतिर्लिंगों में एकमात्र दक्षिणमुखी ज्योतिर्लिंग

स्वदेश वेब डेस्क। भारत के द्वादश ज्योतिर्लिंगों में एकमात्र दक्षिणमुखी ज्योतिर्लिंग है महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग। महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग का मंदिर उज्जैन, मध्य प्रदेश में स्थित है। महाकाल को यहां का क्षेत्राधिपति माना गया है। उज्जैनवासी महाकाल को अपना राज..

राजस्थान पुष्कर स्थित तीन लोक के देवता "ब्रह्माजी" का एकमात्र प्राचीन मंदिर

  यह मंदिर विश्व में ब्रह्माजी का एकमात्र प्राचीन मंदिर है। मंदिर के पीछे रत्नागिरि पहाड़ पर जमीन तल से दो हजार तीन सौ 69 फुट की ऊंचाई पर ब्रह्माजी की प्रथम पत्नी सावित्री का मंदिर है। यज्ञ में शामिल नहीं किए जाने से कुपित होकर सावित्री ने केवल पुष्क..

अशुभ स्थिति में बुधवार को ऐसे करें पूजा

 पुरानी मान्यता है कि श्री गणेश की पूजा का विशेष दिन है बुधवार। साथ ही, इस दिन बुध ग्रह के निमित्त भी पूजा की जाती है। यदि किसी व्यक्ति की कुंडली में बुध ग्रह अशुभ स्थिति में हो तो बुधवार को ऐसे करें श्री.. गणेश पूजनश्रीगणेश को सिंदूर, चंदन, यज्ञोपव..

शुक्र के राशि परिवर्तन से मिलेगा छप्पर फाड़ के धन

शुक्र ग्रह, शुक्रवार को रात्रि 11.32 से मेष राशि से निकलकर वृषभ राशि में प्रवेश करेंगे। ग्रह परिवर्तन का विशेष प्रभाव मेष, वृषभ, कर्क, कन्या, तुला, वृश्चिक, मकर और मीन राशि पर मुख्य रूप से पड़ेगा। इन राशियों के जातकों को छप्पर फाड़ के धन के साथ स्त्री सुख प..

अब चार जुलाई से नहीं होंगे मांगलिक कार्य

अब चार जुलाई के बाद लगभग साढ़े 5 माह मांगलिक कार्य पर रोक लग जाएगी। गुरू अस्त होने के साथ ही इस बार देव उठनी ग्यारस पर भी विवाह मुहूर्त नहीं है। इसके बाद नवम्बर में तीन, दिसम्बर में चार, जनवरी में एक भी नहीं, फरवरी में एक और मार्च में दो विवाह मुहूर्त ह..

धूमधाम से निकाली गयी भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा

  कोलकाता। देश के अन्य हिस्से की तरह पश्चिम बंगाल में भी रविवार को भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा बड़े ही धूमधाम से निकली। बारिश के बावजूद श्रद्धालुओं का हुजूम उमड़ पड़ा। नदिया जिले के मायापुर स्थित इस्कॉन मंदिर से लेकर हुगली जिले के रामपुर, पूर्व मेदिन..

21 जून रहा साल का सबसे लंबा दिन

  नई दिल्ली। आम तौर पर 21 जून साल का सबसे लंबा दिन माना जाता है। बुधवार को भारत में सूर्योदय से सूर्यास्त तक की अवधि 13 घंटे 57 मिनट रही।आधिकारिक जानकारी के अनुसार इंग्लैण्ड में बुधवार को सूर्योदय 4:45 पर हुआ और सूर्यास्त का समय 9:31 है। इस प्रकार व..

यह मंदिर प्रसिद्द है चमत्कार के लिए

भारत में कई मंदिर चमत्कार के लिए प्रसिद्ध है। ऐसे प्रसिद्ध मंदिरों में दर्शनों के लिए भक्तों को कई प्रकार की परेशानियों का सामना भी करना पड़ता है। ..

हर मनोकामना पूरी करती हैं मां शीतला वाली माता, नवरात्र में रहती है सबसे ज्यादा भीड़

कहा जाता है जो भक्त मां शीतला वाली मां के दर्शन करता है उन सभी भक्तों की बिना कहे ही मां सभी मनोकामना पूरी करती है। ..

मेष

ब्रजेन्द्र श्रीवास्तव..