2022 तक ग्यारह लाख गरीब और आवास विहीन परिवारों को दिए जाएंगे पक्के मकान : डॉ. रमन सिंह

स्रोत: न्यूज़ नेटवर्क      तारीख: 12-Oct-2017

रायपुर। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश के विकास को एक नई दिशा दी है। मोदी ने देश के एक-एक गांव और एक-एक गरीब की बेहतरी के लिए चिंता करते हुए कई ऐसी योजनाओं की शुरुआत की है, जिनके बारे में कभी किसी ने सोचा भी नहीं था। मुख्यमंत्री गुरुवार की दोपहर जिला मुख्यालय रायगढ़ और जिला महासमुंद के ग्राम गड़बेड़ा (विकासखंड पिथौरा) में प्रदेश व्यापी बोनस तिहार के अवसर पर विशाल जनसभाओं को सम्बोधित कर रहे थे। डॉ. सिंह ने आज के बोनस तिहार के कार्यक्रमों में रायगढ़ और महासमुंद जिले के कुल एक लाख 61 हजार 530 किसानों को 312 करोड़ रुपये का धान बोनस ऑनलाइन वितरित किया। इनमें से रायगढ़ जिले के 68 हजार 763 किसानों को 127 करोड़ 97 लाख रुपये और महासमुंद जिले के 92 हजार 767 किसानों को 184 करोड़ रुपये का बोनस मिला। डॉ. रमन सिंह ने बोनस तिहार में हजारों की संख्या में आए किसानों, ग्रामीणो नागरिकों को संबोधित करते हुए राज्य और केन्द्र सरकार की विभिन्न योजनाओं पर विस्तार से प्रकाश डाला।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत छत्तीसगढ़ में अगले पांच साल में वर्ष 2022 तक ग्यारह लाख गरीब और आवास विहीन परिवारों को पक्के मकान दिए जाएंगे। अकेले रायगढ़ जिले में 40 हजार परिवारों को इस योजना का लाभ मिलेगा। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में वर्तमान में 36 लाख गरीब परिवारों की महिलाओं को प्रधानमंत्री उज्ज्वल योजना के तहत रसोई गैस कनेक्शन और डबल बर्नर चूल्हा वितरण का कार्य तेजी से चल रहा है। मुख्यमंत्री ने रायगढ़ के मिनी स्टेडियम में आयोजित बोनस तिहार में जिले के 68 लाख 763 किसानों को 127 करोड़ 97 लाख रुपये का धान बोनस लैपटाप के जरिये ऑन लाइन वितरित किया। डॉ. सिंह ने वहां जिले के विकास के लिए 92 करोड़ 50 लाख रुपये के 43 निर्माण कार्यों की सौगात दी। उन्होंने इनमें से लगभग 18 करोड़ 40 लाख रुपये के पूर्ण हो चुके निर्माण कार्यों का लोकार्पण और 74 करोड़ 35 लाख रुपये के 32 निर्माण कार्यों का भूमिपूजन और शिलान्यास किया। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर विभिन्न योजनाओं के तहत रायगढ़ जिले के सात हजार 451 हितग्राहियों को पांच करोड़ 79 लाख रुपये की सामग्री और अनुदान राशि का भी वितरण किया। उन्होंने बोनस तिहार में किसानों की सुविधा के लिए छत्तीसगढ़ राज्य सहकारी बैंक (अपेक्स बैंक) की छह नई शाखाओं का शुभारंभ किया। मुख्यमंत्री ने किसानों के साथ भोजन भी किया।

प्रदेश की सहकारी समितियों को मिलेगी माइक्रो एटीएम की सुविधा मुख्यमंत्री ने प्रथम चरण में दो जिलों की 97 समितियों के लिए किया शुभारंभ उन्होंने इसके साथ ही राज्य की एक हजार 333 प्राथमिक कृषि साख सहकारी समितियों के लिए माइक्रो एटीएम सेवा के प्रथम चरण का शुभारंभ करते हुए दो जिलों-रायगढ़ और जशपुर की 97 सहकारी समितियों को माइक्रो एटीएम की सौगात दी। बोनस तिहार के अवसर पर मुख्यमंत्री के हाथों अपेक्स बैंक की छह नई शाखाओं का रायगढ़ जिले के खरसिया, सारंगढ़, बरमकेला और धरमजयगढ़ तथा जिला जशपुर के पत्थलगांव और जशपुरनगर में शुभारंभ हुआ। रायगढ़ और महासमुंद जिले के बोनस तिहारों की विशाल जनसभाओं में मुख्यमंत्री ने केन्द्र और राज्य की किसान हितैषी योजनाओं का उल्लेख करते हुए कहा कि खेती-किसानी के विकास और किसानों के जीवन में खुशहाली आने पर ही देश और राज्य का विकास होगा। उन्होंने कहा कि इस बार छत्तीसगढ़ में कमजोर मानसून के कारण 96 तहसीलों में सूखे के हालात बने। राज्य सरकार ने किसानों के हित में कई कदम उठाए।

डॉ सिंह ने कहा कि सूखा पीड़ित किसानों को राजस्व पुस्तक परिपत्र (आरबीसी) 6-4 के तहत फसल क्षति का मुआवजा दिया जाएगा। इसके लिए सर्वेक्षण के निर्देश जिला कलेक्टरों को दिए गए हैं। किसानों को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ मिलेगा और धान का बोनस तो उन्हें दिया ही जा रहा है। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में खेतिहर मजदूरों को मनरेगा के तहत एक सौ दिनों के स्थान पर अब 200 दिनों का रोजगार दिया जाएगा। डॉ सिंह ने हाल ही में राज्य के कुछ इलाकों में हुई बारिश को देखते हुए कहा कि इससे किसानों को कुछ राहत तो मिली है, फिर भी प्रदेश सरकार उन्हें सूखे की वजह से जो नुकसान हुआ है, उसे देखते हुए किसानों की मदद के लिए तत्पर है।

बोनस तिहार में रायगढ़ के औद्योगिक विकास की चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि रायगढ़ को हरित शहर (ग्रीन सिटी) के रूप में विकसित किया जाएगा और वहां हाईटेक बस स्टैंड भी बनवाया जाएगा। इसके लिए अधिकारियों को कार्य योजना बनाने के निर्देश दिए गए हैं। मुख्यमंत्री ने रायगढ़ जिले में सड़कों सहित अन्य अधोसंरचनाओं के विकास में आयी तेजी का भी उल्लेख किया। उन्होंने रायगढ़ जिले में चह रही बेटी बचाए-बेटी पढ़ाओं योजना के क्रियान्वन की प्रशंसा करते हुए इसे एक बड़ी चुनौती भी बताया। कहा कि सबके सहयोग से जिले में योजना को लक्ष्य तक पहुंचने में जरूर कामयाबी मिलेगी। उन्होंने यह भी कहा कि छत्तीसगढ़ में अब किसी भी गरीब परिवारों को इलाज के लिए चिंतित होने की जरूरत नहीं है। मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा येाजना के तहत राज्य सरकार ने प्रत्येक परिवार के लिए निःशुल्क इलाज की वार्षिक सुविधा को 30 हजार रुपये से बढ़ाकर 50 हजार रुपये कर दिया है।
मुख्यमंत्री ने ग्राम गड़बेड़ा के बोनस तिहार में महासमुंद जिले के लिए 212 करोड़ रुपये लागत के 58 विभिन्न निर्माण कार्यों का लोकार्पण, भूमिपूजन और शिलान्यास किया। इनमें 62 करोड़ 45 लाख रुपए के 20 पूर्ण हो चुके कार्यों का लोकार्पण और 149 करोड़ 31 लाख रुपये के 38 नए निर्माण कार्याें का भूमिपूजन और शिलान्यास शामिल हैं। रायगढ़ के बोनस तिहार में मुख्यमंत्री के साथ केन्द्रीय इस्पात राज्य मंत्री विष्णुदेव साय, प्रदेश सरकार के गृह, जेल, और लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री रामसेवक पैकरा, संसदीय सचिव सुनीती राठिया, विधायक रोशन लाल अग्रवाल और विधायक केरा बाई मनहर, रायगढ़ की महापौर मधु बाई सहित अनेक वरिष्ठ जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।