खूनी खेल खेलने वाले वामपंथियों का पूरी दुनिया से सफाया तय : सुशील मोदी

स्रोत: न्यूज़ नेटवर्क      तारीख: 12-Oct-2017

पटना। वामपंथियों की हिंसा के खिलाफ 15 दिवसीय (03 से 17 अक्तूबर) जनरक्षा पदयात्रा के 10 वें दिन केरल के इट्टुमनोर से कोट्टयम तक आयोजित 12 किमी लम्बी पदयात्रा के बाद जनसभा को सम्बोधित करते हुए बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि हिंसा की बुनियाद पर खड़े वामपंथियों का पूरी दुनिया से सफाया हो चुका है।

सुशील मोदी ने गुरुवार को यहाँ कहा कि वामपंथी भारत में भी केवल दो राज्यों त्रिपुरा और केरल में सिमट गए हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा और आरएसएस के कार्यकर्ता भी ईंट का जवाब पत्थर से देना जानते हैं, किन्तु भाजपा और आर एस एस का विश्वास लोकतंत्र में है 1 भाजपा नेता ने दावा किया कि अगले चुनाव में भारत से इनका सफाया कर भाजपा और आर एस एस इन हिंसा का जवाब देगी 1

उन्होंने कहा कि कम्युनिस्टों का लोकतंत्र में कभी विश्वास नहीं रहा है, इसलिए किसी भी कम्युनिस्ट शासित देश में एकदलीय चुनाव प़द्धति को अपनाने के साथ ही नागरिक अधिकारों को छीनने, विरोध प्रदर्शनों पर रोक और अखबारों पर सेंसरशीप आम बात रही हैं 1

मोदी ने कहा कि आरएसएस-बीजेपी की बढ़ती ताकत से घबड़ा कर केरल में सरकार संरक्षित हिंसा में भाजपा व सहयोगी संगठनों के 120 कार्यकर्ता मारे जा चुके हैं जिनमें मुख्यमंत्री पी विजयन के गृहजिला कन्नूर में ही हत्या की 84 घटनाएं हुई हैं। इनके खिलाफ विगत 03 अक्तूबर को कन्नूर से ही जनरक्षा पदयात्रा की शुरूआत भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने की थी। उन्होंने कहा कि जनरक्षा पदयात्रा 10 वें दिन की पदयात्रा में भी 10 हजार से अधिक भाजपा व सहयोगी संगठनों के कार्यकर्ता शामिल हुए।

भाजपा नेता ने कहा कि बिहार में सीपीएम कभी पनप नहीं पायी मगर जिन थोड़े इलाकों में कम्युनिस्टों का प्रभाव था वहां किसी दूसरे को घुसने नहीं दिया जाता था। ऐसी ताकतवार कम्युनिस्ट पार्टी का आज कोई नामलेने वाला नहीं है और आने वाले दिनों में खूनी खेल खेलने वाले वामपंथियों का केरल से भी सफाया तय हैं।