यूएन ने म्यांमार से शीर्ष अधिकारी को बुलाया वापस

स्रोत: न्यूज़ नेटवर्क      तारीख: 12-Oct-2017

न्यूयॉर्क। संयुक्त राष्ट्र ने म्यांमार के रोहिंग्या इलाकों में काम कर रहीं अपनी शीर्ष अधिकारी रेनाटा लोक-डेसालियन को वापस न्यूयॉर्क वापस बुलाने की घोषणा की है। यह जानकारी गुरुवार को मीडिया रिपोर्ट से मिली।

संयुक्त राष्ट्र के बयान के मुताबिक डेसालियन अक्टूबर के अंत तक म्यांमार छोड़ देंगी। इससे पहले जून महीने में संयुक्त राष्ट्र की तरफ से कहा गया था कि जल्द ही उनको दूसरे पद पर भेजा जाएगा, लेकिन इस निर्णय का उनके काम के प्रदर्शन से कोई लेना देना नहीं है।

बीबीसी के अनुसार, स्थानीय राजनयिक और सहायता समुदाय से मिली जानकारी के मुताबिक संयुक्त राष्ट्र ने यह फैसला इसलिए लिया कि डेसालियन वहां मानवाधिकारों को प्रथामिकता देने में विफल रहीं।

विदित हो कि पिछले महीने बीबीसी ने रेनाटा लोक-डेसालियन को अपनी ख़ास रिपोर्ट में जांच का फोकस बनाया था। उन पर रोहिंग्या मुसलमानों पर आंतरिक चर्चा को दबाने का आरोप था।

बीबीसी जांच के जवाब में म्यांमार में संयुक्त राष्ट्र ने बयान जारी कर डेसालियन का बचाव किया और कहा कि उनको वापस बुलाए जाने के फैसले का रोहिंग्या मामले से कोई लेना देना नहीं है। यह सामान्य प्रक्रिया का हिस्सा है। लेकिन म्यांमार में अब संयुक्त राष्ट्र का अगला मुख्य अधिकारी कौन होगा इसकी घोषणा नहीं की गई है।

उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों म्यांमार के रख़ाइन प्रांत में भड़की हिंसा के कारण पांच लाख से ज़्यादा रोहिंग्या पलायन कर गए हैं। इनमें से ज़्यादातर ने बांग्लादेश के शिविरों में शरण ली है।