2019 तक ग्वालियर से जौरा तक पूरा हो जाएगा ब्रॉडगेज का काम

स्रोत: न्यूज़ नेटवर्क      तारीख: 07-Oct-2017

-बड़ी रेल लाइन का सपना जल्द होगा पूरा
-मुरैना से शुरू हुआ ब्रॉडगेज निर्माण
श्योपुर। श्योपुर के लिए यह बात अभी तक भी एक सपने की तरह ही है कि, यहाँ के लोगों को ब्रॉडगेज में बैठकर यात्रा करने का मौका मिलेगा। लेकिन जिलेवासियों का यह सपना अब जल्द ही पूरा होने वाला। इसके लिए रेलवे ने पूरी तैयारी कर ली है और मुरैना से रेल  प्रोजेक्ट का  काम शुरू भी हो चुका है। मालूम हो कि श्योपुर जिले में बड़ी रेल लाइन के लिए न सिर्फ जन आंदोलन हुए हैं, बल्कि यह मुद्दा कई बार संसद में भी गूंज चुका है। ब्रॉडगेज के लिए किये गए आंदोलन अब जिलेवासियों के लिए साकार होते नजर आ रहे है। ग्वालियर दीगोद रेल परियोजना के मुख्य अभियंता एसके मिश्रा ने बताया कि ब्रॉडगेज रेल लाइन का काम मुरैना जिले से जमीन अधिग्रहण करने के कार्य के साथ शुरू हो चुका है। उन्होंने बताया कि ब्रॉडगेज के लिए 700 हेक्टेयर भूमि अधिग्रहण की जानी है, जिसमें 495 हेक्टेयर मुरैना और 205 हेक्टेयर भूमि श्योपुर जिले में अधिग्रहण की जाएगी।

ग्वालियर से जौरा तक शुरू होगी ब्रॉडगेज

ग्वालियर-दीगोद रेल परियोजना का निर्माण शुरू  होने के बाद रेल विभाग यह भी कयास लगा रहा है कि वर्ष 2019 तक ग्वालियर से जौरा तक ब्रॉडगेज का काम पूर्ण किया जाकर लोगों को ब्रॉडगेज की सुविधाओं का लाभ दिया जा सके।
दस गांवों को जारी किए नोटिस
ब्रॉडगेज रेल  निर्माण को लेकर विभाग पूरी तरह से सक्रिय है। रेल निर्माण के बीच में आने वाले मुरैना जिले के 10 गाँवो को विस्थापन के लिए नोटिस जारी किया जा चुका है। वही 15 गाँवो को नोटिस जारी करने की तैयारी की जा रही है।  
25 स्टेशन होंगे

ग्वालियर से दीगोद रेल लाइन में 25 स्टेशन होंगे जिसमें 8 हॉल्ट स्टेशन और 15 बड़े स्टेशन होंगे।

इन्होंने कहा

ब्रॉडगेज रेल लाइन का निर्माण  कार्य शुरू हो चुका है। भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया चल रही है।  10 गाँवो को नोटिस जारी कर दिया है। 15 गाँवो को अभी नोटिस देने की तैयारी है।

एस. के. मिश्रा
मुख्य अभियंता

ग्वालियर-दीगोद रेल प्रोजेक्ट

ब्रॉडगेज रेल लाइन के प्रोजेक्ट को जल्द से जल्द पूरा करवाया जायेगा

अनूप मिश्रा
सांसद, मुरैना, श्योपुर

रेल मंत्रालय में अभी भी अटके 2500 करोड़

ब्रॉडगेज निर्माण के लिए मुरैना जिले को भूमि अधिग्रहण के लिए 500 करोड़ रुपए करीब 3 माह पहले ही जारी किये जा चुके हैं। जिससे मुरैना में ब्रॉडगेज रेल लाइन के निर्माण की तैयारी शुरू हो चुकी है। लेकिन अभी भी 2500 करोड़ का स्टीमेट अटका हुआ। जिसके बिना ब्रॉडगेज का निर्माण कार्य पूर्ण नहीं हो सकता।