शनिवार को पीपल की जड़ में जल चढ़ाने से होंगी ये कामनायें पूरी

स्रोत: न्यूज़ नेटवर्क      तारीख: 11-Nov-2017

स्वदेश वेब डेस्क। गीता में भगवान श्रीकृष्ण ने कहा है वृक्षों में मैं पीपल हूँ, इस बात का अनुभव पीपल के वृक्ष के सानिध्य में जा कर उसमें स्थित सकारात्मक ऊर्जा ग्रहण कर विचारों  में आये परिवर्तन को महसूस कर समझा जा सकता है।  पीपल वृक्ष न सिर्फ पर्यावरण के प्रदुषण को दूर करने  में बल्कि हमारे समस्त ग्रह दोषो को को भी दूर करने में मदद करता है  पद्म पुराण के अनुसार, हर शनिवार को पीपल की जड़ में जल चढ़ाने और दीपक जलाने से अनेक प्रकार के कष्टों का निवारण होता है ।

ज्योतिषाचार्य पंडित सतीश सोनी के अनुसार, नौकरी-व्यवसाय में सफलता, आर्थिक समृद्धि एवं कर्ज मुक्ति हेतु कारगर प्रयोग शनिवार के दिन पीपल में दूध, गुड, पानी मिलाकर चढायें एवं प्रार्थना करें - 'हे प्रभु ! आपने गीता में कहा है कि वृक्षों में पीपल मैं  हूँ । हे भगवान ! मेरे जीवन में यह परेशानी है । आप कृपा करके मेरी यह परेशानी (परेशानी, दुःख का नाम लेकर ) दूर करने की कृपा करें । पीपल का स्पर्श करें व प्रदक्षिणा करें ।