मन मस्तिष्क को रोज चार्ज करना जरूरी

स्रोत: न्यूज़ नेटवर्क      तारीख: 13-Nov-2017

ग्वालियर। अच्छे और स्वस्थ विचारों के लिए मन-मस्तिष्क को रोज चार्ज करना जरूरी है, ताकि हम हर दिन पॉजीटिव थिकिंग के साथ स्वयं को प्रसन्न, स्वस्थ, उजार्वान महसूस कर सकें, रिलेशन व प्रोफेशनल लाइफ को बेहतर बना सकें और दुनिया का सामना कर सकें, इसलिए अपने लिए सुबह 20 मिनट जरूर निकालें जो सिर्फ स्वयं की मेंटली व फिजीकली हेल्थ के लिए हो। मेडीटेशन और स्प्रिच्युलिटी आपके माइंड को नरिश करेगी, जिससे सिर्फ पॉजीटिव थिंकिंग ही बाहर आएगी। आपके विचार, मेंटल, इमोशनल, फिजिकली हेल्थ के साथ रिलेशन, वर्क और बाहरी दुनिया पर भी प्रभाव डालते हैं, जिस पर जीवन का अधार टिका है। मेडीटेशन और स्प्रिच्युलिटी को तनाव मुक्त रहने और पॉजीटिव थिंकिंग के लिए न्यू लाइफ इस्टाइल के रूप में अपनाने की सलाह दे रही थीं ब्रह्माकुमारी बी.के. शिवानी बहन जो, रविवार को आईटीएम विश्वविद्यालय में मीटिंग आॅफ माइंड के अंतर्गत पावर आॅफ पाजीटिव थिंकिंग विषय पर बतौर मुख्य वक्ता छात्रों और शिक्षकों को संबोधित कर रही थीं। सक्सेस के लिए जरूरी मानी जाने वाली विलपावर के लिए उन्होंने कहा कि हमारा इमोशनल हेल्दी रहना बहुत जरूरी है। विपरीत स्थितियों और कुछ भी अच्छा न होने के बावजूद भी खुद को स्टेबल महसूस करना, तुलना नहीं करना, इच्छा अधूरी रहने पर बुरा महसूस नहीं करना, किसी भी बात से हृदय को चोट नहीं पहुंचना, इमोशंस के इसी कंट्रोल को इमोशनल हेल्दी होना बोलते हैं। इस मौके पर आईटीएम विवि के कुलाधिपति रमाशंकर सिंह, कुलपति डॉ. के.के. द्विवेदी, मैनेजिंग डायरेक्टर दौलत सिंह चौहान ने बी.के. शिवानी बहन का आभार व्यक्त किया।