भारत-जापान ग्लोबल समिट को संबोधित करेगी प्रदेश के गांव की बेटी मोना

स्रोत: न्यूज़ नेटवर्क      तारीख: 11-Dec-2017

नरसिंहपुर। नई दिल्ली में 11 दिसंबर से शुरू हो रहे भारत-जापान ग्लोबल पार्टनरशिप समिट में मप्र की सबसे कम उम्र की युवा सरपंच मोना कौरव शामिल होंगी। ग्राम सड़ूमर की सरपंच मोना पहले दिन वन यूथ वन कल्चर थीम पर लोकतांत्रिक व्यवस्था व स्मार्ट विलेज पर अपनी बात रखेंगी।

14 दिसंबर तक चलने वाली समिट में करीब 100 देशों के तीन हजार से ज्यादा युवा नेता शामिल होंगे। केंद्र सरकार के कई मंत्री, युवा उद्योगपति सहित कई संगठन भी समिट में आएंगे। चेयरमैन प्रवीण निकाम ने सरपंच मोना को समिट में शामिल होने का न्योता दिया है। यह आयोजन भारत के गैर सरकारी संगठन यंग लीडर्स ग्लोबल फाउंडेशन व जापान की लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी के हॉन होशिहीरो निकाई के सहयोग से किया रहा है।

पहले स्मार्ट विलेज चाहिए, बाद में स्मार्ट सिटी

समिट के लिए सरपंच मोना कौरव तीन दिन से तैयारी कर रही हैं। मोना कहती हैं कि भारत गांवों का देश है तो पहले स्मार्ट विलेज के लिए नीतियां बनानी होंगी। समिट के जरिए वे मांग रखेंगी कि पहले स्मार्ट विलेज चाहिए, बाद में स्मार्ट सिटी। मोना के मुताबिक , उन्हें समिट में बोलने के लिए 5 से 10 मिनट का समय मिलेगा। इसमें उन्हें अपनी बात रखनी है।

-कुपोषित बच्चों को गोद लेकर आंगनबाड़ी की हालत सुारी।

-मुक्तिाम जाकर अतिक्रमण हटवाकर शेड बनवाया।

-185 वर्ष पुराने तालाब का जीर्णोद्धार कराया।

-अपने खर्च पर 3 छोटी बजरा सड़कों का निर्माण कराया।

-बेटी के जन्म पर बैंडबाजों से उत्सव मनाने और उपहार देने की पहल की।

-जैविक खेती को बढ़ावा देने शासन की योजनाओं से करीब 100 गोबर गैस संयंत्रों का निर्माण कराया।

-बच्चों को परीक्षा की तैयारी कराने दो वर्ष से सरपंच पाठशाला की शुरूआत की। यहां उच्च शिक्षित युवाओं के साथ वे खुद जाकर पढ़ाती हैं।

-प्रदेश का जनसंपर्क विभाग मोना पर महिला सशक्तिकरण को लेकर वृत्त चित्र भी बना चुका है।

मोना को मिलेंगे ये सम्मान

-17 दिसंबर 2017 को जोपुर में आयोजित यूथ पार्लियामेंट की ओर से भारतरत्न डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम राष्ट्र निर्माण पुरस्कार दिया जाएगा।

-जनवरी 2018 में पुणे का भारतीय छात्र फाउंडेशन उच्च शिक्षित आदर्श युवा सरपंच पुरस्कार देगा।