बाबा साहब के विचारों के साथ मोदी और योगी सरकार : भाजपा

स्रोत: न्यूज़ नेटवर्क      तारीख: 30-Dec-2017

लखनऊ। योगी सरकार ने विधान सभा, विधान परिषद और सरकारी दफ्तरों समेत सभी शैक्षणिक संस्थाओं में बाबा साहब भीमराव रामजी आंबडेकर की तस्वीर लगाने का निर्णय लिया है। इस फैसले से साफ हो गया है कि भाजपा सरकारें बाबा साहेब के दिखाये मार्ग पर चलकर विकास के कार्यों को अंजाम दे रही है। यह बातें भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रदेश प्रवक्ता शलभ मणि त्रिपाठी ने शनिवार को कही।

प्रवक्ता ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी का फैसला सराहनीय है। बाबा साहेब समाज के अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति को सशक्त करने की लड़ाई जीवन भर लड़ते रहे और अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की अगुवाई में भाजपा की केंद्र और राज्य सरकारें देश भर में गरीबों, पिछड़ों और कमजोरों के लिए काम कर रही हैं।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री की अगुवाई में ही भारत सरकार ने लंदन में नीलाम हो रहे बाबा साहेब के आवास को खरीद कर उसे स्मारक में तब्दील करने के अलावा मुंबई के इंदू मिल में उनका भव्य स्मारक बनाने का काम किया। वहीं उनके जन्मस्थान को तीर्थ के तौर पर विकसित करने की योजना शुरू की। इसी कड़ी में नागपुर में दीक्षा भूमि को भी तीर्थ की तरह विकसित किया जा रहा है। बाबा साहब को सच्ची श्रद्धांजलि देते हुए प्रधानमंत्री ने भीम ऐप बनाकर देश को समर्पित किया था। हाल ही में डॉ. बीआर आंबेडकर इंटरनेशनल सेंटर को भी देश को समर्पित किया है।

प्रवक्ता ने कहा कि पिछले पंद्रह सालों के दौरान सपा और बसपा की सरकारों ने बाबा साहेब के नाम का इस्तेमाल तो किया पर उनके विचारों को आगे बढ़ाने का कोई काम नहीं किया। उल्टे पिछड़ों, दलितों और गरीबों का सबसे ज्यादा शोषण सपा बसपा की सरकारों में ही किया गया।