रक्षा मंत्रालय ने कहा - संपर्क टूटने के चलते चीनी सीमा में चला गया था भारतीय ड्रोन

स्रोत: न्यूज़ नेटवर्क      तारीख: 08-Dec-2017

नई दिल्ली। भारतीय रक्षा मंत्रालय ने आज स्पष्ट किया कि सिक्किम में अपने सीमा क्षेत्र में निगरानी कर रहा एक पॉयलेट रहित विमान (यूएवी) का जमीन से संपर्क टूट जाने के कारण वह वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पार कर गया । चीन ने आरोप लगाया था कि भारतीय ड्रोन के उसकी वायुसीमा का उल्लंघन किया है।

रक्षा मंत्रालय ने एक विज्ञप्ति जारी कर कहा, ‘‘एक यूएवी (ड्रोन) भारतीय क्षेत्र के अंदर एक नियमित प्रशिक्षण मिशन पर था। कुछ तकनीकी समस्या के कारण जमीन से उसका संपर्क टूट गया और वह सिक्किम सेक्टर में एलएसी को पार कर गया।’’

चीन की समाचार एजेंसी शिन्हुआ से जारी एक लेख के जवाब में रक्षा मंत्रालय ने कहा कि घटना की एक तय प्रोटोकॉल के तहत जांच की जा रही है। मंत्रालय ने कहा कि सुरक्षा प्रोटोकॉल के तहत इस बारे में भारतीय सीमा सुरक्षा बल ने अपने चीनी समकक्ष को यूएवी खोजने को कहा था। जिसके जवाब में चीन की ओर से उन्हें यूएवी की स्थिति की जानकारी दी गई थी।

इसके बावजूद चीन के पश्चिमी कमान के ज्वाइंट स्टाफ विभाग के उपप्रमुख झांग शुइली का कहना है कि भारतीय ड्रोन ने हाल ही में चीन के वायुक्षेत्र में घुसपैठ की है। चीन की सीमा पर तैनात चीनी सैनिकों ने इस बात की पुष्टि की है। उन्होंने कहा, “भारत के इस कदम से चीन की सुरक्षा व संप्रभुता का उल्लंघन हुआ है। हम इसका विरोध करते हैं। हम चीन की संप्रभुता को सुरक्षित करने के लिए हर कदम उठाएंगे।”