झारखंड के युवाओं को हुनरमंद बनाने को 700 करोड़ का प्रावधान : रघुवर

स्रोत: न्यूज़ नेटवर्क      तारीख: 17-Jun-2017

रांची। मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा है कि राज्य सरकार ने युवाओं को हुनरमन्द बनाने के लिए 700 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है। सभी पंचायतों में ग्रामीण पंचायत सचिवालय का निर्माण हो चुका है। हर पंचायत से 100 युवक-युवतियों को चिह्नित कर उन्हें प्रशिक्षित किया जा रहा है । उन्होंने कहा कि शहर से लेकर गांव तक आधारभूत संरचना के निर्माण के साथ-साथ विकास का कार्य किया जा रहा है। शनिवार को जमशेदपुर में जुस्को द्वारा निर्मित न्यू बारीडीह पार्क के उद्घाटन करने के बाद वे बोल रहे थे । इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने जुस्को द्वारा प्रायोजित‘ जिम्मेवार परिवार, अभियान का शुभारम्भ भी किया।

दास ने कहा कि झारखण्ड से गरीबी को खत्म करना राज्य सरकार का संकल्प है। यह मेरे जीवन का ध्येय भी है। अगले तीन-चार वर्षों में झारखण्ड को देश का विकसित राज्य बनाना है तथा पूरे विश्व पटल पर इसकी पहचान हो इस दिशा में सरकार दृढ़ता से कार्य कर रही है। प्रकृति ने हमें असीम सम्पदा दी है। प्राकृतिक संसाधन और मानव संसाधन के योग से हम विकास के उंचाई को प्राप्त करेंगे। उन्होंने कहा कि राज्य के तीव्र विकास के लिए ग्लोबल इंवेस्टमेंट समिट सरकार की महत्वाकांक्षी पहल है। मोमेंटम झारखण्ड के तहत तीन लाख करोड़ का एमओयू हुआ है जिसमें 700 करोड़ का समझौता धरातल पर धरातल पर आ चुका है। गांव से लेकर शहर तक हर एक के हाथ में जीविकोपार्जन का साधन मुहैया कराके ही जन-जन के विकास की सोच को सार्थक किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि आज पूरी दुनिया जलवायु परिवर्तन को लेकर चिन्तित है।
मौसम के बिगड़ते मिजाज के कारण स्वच्छ जल, स्वच्छ पर्यावरण, स्वच्छ हवा के बारे में हम निश्चित नहीं हैं। पर्यावरण का संरक्षण पूरे समाज का दायित्व है। प्रकृति और पर्यावरण को सुरक्षित-संरक्षित रखने के लिए और अपने प्रदेश को और भी हरा-भरा बनाने के लिए राज्य सरकार द्वारा 5 जुलाई से पूरे झारखण्ड में 2 करोड़ पेड़ लगाने का वृहत कार्य प्रारम्भ किया जाएगा।

दास ने कहा कि स्वच्छता का सीधा सम्बन्ध स्वास्थ्य से है। हमारे आस-पास का परिवेश स्वच्छ होगा तो हम साफ हवा में श्वास ले सकेंगे। उन्होंने कहा कि 2 अक्टूबर 2019 को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयन्ती पर सम्पूर्ण स्वच्छ भारत निर्मित करने का संकल्प प्रधानमंत्री ने लिया है। इस मुहिम के तहत वर्ष 2018 तक राज्य सरकार ने स्वच्छ झारखण्ड के लक्ष्य को प्राप्त करने का संकल्प लिया है।