पड़ाव पुलिस की मेहरबानी : देर रात तक गुलजार रहती है स्टेशन बजरिया

स्रोत: न्यूज़ नेटवर्क      तारीख: 17-Jul-2017

दुकानदारों से हर रोज हजारों की अवैध उगाही करती है पुलिस

 
ग्वालियर। स्टेशन बजरिया में देर रात तक दुकान खोलने के बदले में पुलिस दुकानदारों से जमकर अवैध वसूली करती है। ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मी रात 12 बजते ही दुकानों पर वसूली के लिए दस्तक दे देते हैं। हालांकि वह दिखावा दुकान बंद कराने का करते हैं। इसके चलते रात में यहां आए दिन असामाजिक तत्व किसी पर लात-घंूसे चलते हैं तो किसी की मारपीट कर आतंक मचाते हैं।

यदि आपको रात 12 बजे के बाद स्टेशन बजरिया जाने का मौका मिले तो यहां पर एक नजारा देखने को मिलेगा। हाथ में डंडा लिए पुलिस वाले सीटी बजाकर दुकानों को बंद कराते आसानी से मिल जाएंगे। पुलिस को देखकर दुकान के शटर धड़ा-धड़ गिरना शुरू हो जाते हैं। तेज आवाज में दुकान बंद करने की धमकी भरे स्वर में पुलिस वाला बोलेगा, दुकान बढ़ाओ। तभी मैले-कुचैले कपड़े पहने युवक दुकान से बाहर निकलकर आता है और पुलिस वालों के पैर छूकर आशीर्वाद लेता है और जनता से नजरें बचाकर जेब में हाथ डालकर तेज कदमों से वापस दुकान की ओर लौट जाता है।

ड्यूटी पर तैनात अपने आरक्षक, हवलदार, सहायक उप निरीक्षक साहब दिखावे के लिए दुकानदार को गरियाते हुए कहते हैं कि क्यों वे दुकान बंद नहीं करेगा। उधर दुकानदार शटर गिराकर दुकान बंद कर देता है। पुलिस वाले जैसे ही आगे बढ़ते हैं तो एक बार फिर दुकानों के शटर उठ जाते हैं। दोनों ही पक्षों ने अपनी-अपनी ईमानदारी का नमूना दिखा दिया। ये नजारा हर रोज होटल व दुकानों के संचालकों और पुलिस वालों के बीच चलता रहता है। सूत्र बताते हैं कि स्टेशन बजरिया से हर रोज खाकी वर्दी वाले हजारों रुपए की अवैध वसूली सिर्फ देर रात दुकान खोले रखने के बदले में करते हैं। यहां के हालात रात में इतने बदतर हो जाते हैं कि शराब के नशे में युवकों को होटल संचालकों से खाने के पैसों को लेकर घमासान होता रहता है। दबंग युवक गोली चलाने से भी नहीं चूकते हैं। अपने खाकी वाले भाई साहब ऐसे समय सरक जाते हैं। जब सिर फुटब्बल हो जाता है, उसके बाद डंडा फटकारते हुए आते हैं। ये नजारे आपको हर रोज स्टेशन बजरिया पर देखने को मिल जाएंगे।

इन होटलों पर सबसे ज्यादा आतंक

गुप्ता छोले वाले के यहां रात तीन बजे तक कारोबार होता है। पुलिस दिखावे के लिए यहां से युवकों को खदेड़ती है। बाबा होटल, जैन होटल, अशोका होटल, चाय की दुकानों पर अफरा तफरी मची रहती है।

इनका कहना है

‘‘स्टेशन बजरिया क्षेत्र में कोई आपराधिक घटना न हो। इस दृष्टि से रात 12 बजे के बाद दुकानों को बंद कराया जाता है। यदि कोई पुलिस वाला दुकानदारों से पैसा वसूलता है तो उसे निलम्बित करने की कार्रवाई की जाएगी।’’

संतोष यादव
पड़ाव थाना प्रभारी