एडवांस बस टिकट पर अब पांच प्रतिशत लगेगा जीएसटी चार्ज

स्रोत: न्यूज़ नेटवर्क      तारीख: 03-Jul-2017

लखनऊ। उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम(रोडवेज) की लग्जरी बसों में एडवांस में किराया देकर सीट बुक कराया है, तो एक जुलाई के बाद बस में सफर करने वाले हर यात्री को पांच फीसदी जीएसटी चार्ज बस कंडक्टर को अलग से देना होगा। वहीं इसके बदले बस कंडक्टर अलग से टिकट देगा।

रोडवेज के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि रोडवेज की लग्जरी बसों में एडवांस में किराया देकर सीट बुक कराया है तो, एक जुलाई के बाद बस में सफर करने वाले हर यात्री को पांच फीसदी जीएसटी चार्ज बस कंडक्टर को अलग से देना होगा। वहीं इसके बदले बस कंडक्टर अलग से टिकट देगा। यदि कोई जीएसटी का अतिरिक्त चार्ज नहीं देते है तो उसका टिकट मौके पर ही रद्द हो जाएगा । उन्होंने बताया कि इस मामले में परिवहन निगम के प्रबंध निदेशक ने सभी क्षेत्रीय प्रबंधकों को सर्कुलर भेजकर निर्देश दिया है।

चारबाग बस अड्डे से रवाना होने वाली एसी वोल्वो, स्कैनिया, जनरथ व एसी शताब्दी बसों में सफर करने वाले यात्रियों के सामने नई मुसीबत खड़ी हो गई है। एडवांस में बस किराया देने के बाद बस कंडक्टर जीएसटी के नाम पर पांच फीसदी अतिरिक्त किराय मांग रहे हैं। इस मामले में कई बार यात्री और बस कंडक्टर के बीच विवाद हो चुका है। ताजा मामला एक जुलाई की रात नौ बजे चारबाग बस अड्डे से देहरादून जा रही वोल्वो बस में जो 48 सवारी बैठी थी उन्होंने एडवांस में टिकट बुक कराया था।

बस कंडक्टर ने पांच फीसदी अतिरिक्त किराया मांगा तो यात्रियों ने देने से मना कर दिया। बस जब कैसरबाग बस अड्डे पहुंची तो वहां एआरएम अमरनाथ सहाय ने यात्रियों से बातचीत करके मामले को सुलझाया। तब जाकर बस देहरादून के लिए रवाना हुई। अधिकारी ने बताया कि जिन यात्रियों ने एडवांस में किराया देकर एसी बसों में सीट बुकिंग कराई है। उन यात्रियों के मोबाइल पर मैसेज भेजकर पांच फीसदी जीएसटी शुल्क के नाम पर अतिरिक्त किराया देने की सूचना दी जाएगी। इस मामले में परिवहन निगम के एमडी के रविंद्र नायक ने मुख्य प्रधान प्रबंधक एचएस गावा को निर्देश देते हुए ट्राई मैक्स कंपनी को मैसेज भेजने की जिम्मेदारी सौंपी है।