उपराष्ट्रपति ने स्पोर्ट्स टैलेंट सर्च पोर्टल का किया शुभारम्भ, खेल प्रतिभाओं को मिलेगा सुनहरा अवसर

स्रोत: न्यूज़ नेटवर्क      तारीख: 28-Aug-2017

नई दिल्ली। उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने पूरे देश के बच्चों को खेल अपनाने के मद्देनजर उचित मौका मुहैया कराने के उद्देश्य से तैयार किये गये टैलेंट सर्च पोर्टल www.nationalsportstalenthunt.com की सोमवार को एक भव्य समारोह में विधिवत शुरूआत की।

उपराष्ट्रपति नायडू ने पोर्टल का शुभारम्भ करते हुए अपने विद्यार्थी जीवन को याद करते हुए कहा कि वे कबड्डी और खोखो के खिलाड़ी रहे हैं और आज भी हर सुबह एक घंटे बैडमिंटन खेलते हैं क्योंकि खेल से मानसिक विकास और मानसिक उल्लास मिलता है। उन्होंने कहा कि स्पोर्ट्स में भी रिफार्म, परफॉर्म और ट्रासफोर्म की विशेष जरूरत है और स्पोर्ट्स को शिक्षा का अनिवार्य अंग बनाना चाहिए । श्री नायडू ने खेल मंत्री गोयल को इस पोर्टल की परिकल्पना और इसके शुभारम्भ के लिए बधाई दी। इस पोर्टल से जुड़ने के लिए आप पर जा सकते हैं और अपने जरूरत के हिसाब से योजनाओं का चयन या अपनी उपलब्धियां अपलोड कर मंत्रालय तक अपनी बात पहुंचा सकता है।

उपराष्ट्रपति ने कहा कि यह पोर्टल देशभर की छुपी हुई खेल प्रतिभाओं की न केवल पहचान करेगा बल्कि उनका चयन करके उन्हें खेल जगत में आगे बढ़ने के लिए सारी सुविधाएं प्रदान करेगा। इस तरह के प्रयासों से बेहतरीन प्रतिभाएं तो मिलती ही हैं साथ ही सबको सामान अवसर भी मिलता है।

खेल मंत्री विजय गोयल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार जताया कि मन की बात में उन्होंने स्पोर्ट्स टैलेंट सर्च पोर्टल के बारे में विस्तार से चर्चा की, साथ ही खेल और खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करते रहते हैं। गोयल ने बताया , यह पोर्टल 8 वर्ष से बड़ी उम्र के भारत के गांव, कसबे, शहर, गली-मोहल्ले के बच्चों को खेल की दुनिया में प्रवेश करने का अवसर देगा|इसमें बच्चे, उनके अभिभावक या मित्र या जानकार उनका नाम रजिस्टर करके प्रोफाइल बना सकते हैं और किस खेल में अथवा योजना के तहत आना चाहते हैं, यह दर्ज कर सकते हैं| उसके बाद हमारा मंत्रालय प्रतिभाशाली खिलाड़ियों का चयन करेगा और उन्हें अपने टैलेंट को निखारने का पूरा अवसर देगा।

गोयल ने कहा शिक्षा के साथ स्पोर्ट्स को जोड़ने के गंभीर प्रयास जारी हैं। स्कूलों में खेलों का एक अनिवार्य पीरियड रखे जाने की योजना है। भारतीय खेल प्राधिकरण को बेहतर बनाया जाएगा, कोको की फिटनेस पर भी ध्यान दिया जाएगा। मैडल वृद्धि के लिए देशभर में स्पोर्ट्स कल्चर की बहुत जरूरत है| इसलिए यह पोर्टल एक बड़ा और महत्वपूर्ण माध्यम होगा जिससे भविष्य के खिलाड़ी हमसे जुड़ेंगे और उनको हम ट्रेनिंग देंगे।

दिल्ली के इंदिरा गांधी स्टेडियम में उपराष्ट्रपति ने केंद्रीय खेल मंत्री विजय गोयल, मंत्रालय के अधिकारियों एवं इस वर्ष के अर्जुन पुरस्कार प्राप्त खिलाड़ियों और सैंकड़ों स्कूली छात्रों की मौजूदगी में यह बहु-प्रतीक्षित पोर्टल जनता को समर्पित किया।