मोदी और योगी के सपनों को साकार कर रहे है शैलजाकांत

स्रोत: न्यूज़ नेटवर्क      तारीख: 19-Sep-2017
विधायक रहे दादा जी से विरासत में मिली है तीर्थ स्थल के विकास की समझ 
 
 - शैलजाकांत मिश्रा 
 
मथुरा/स्वदेश डिजिटल। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का सपना है कि स्वच्छता मुहिम से देशवासी जुड़ें। सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ तीर्थाे की पौराणिकता को संरक्षित रखते हुए उनके विकास की बात कह रहे है। ब्रज में इन सपनों को साकार करने में पूर्व आईपीएस और ब्रज तीर्थ विकास परिषद के उपाध्यक्ष शैलजाकांत मिश्रा जुटे हुए है। उन्होंने स्वच्छता अभियान और ब्रज विकास में आम लोगेां को जोडऩे की अनूठी पहल की है। 
 
ब्रज के प्रति शैलजाकांत मिश्रा का लगाव, उनकी ईमानदारी, कर्तव्यों के प्रति निष्ठा भी इसी कड़ी का हिस्सा है। आजमगढ़ के प्रतिष्ठित घराने से प्रशासनिक सेवा के क्षेत्र में आये शैलजा कांत मिश्रा की छवि एक ऐसे पुलिस अफसर की रही जिस पर हर समय कानून का जुनून रहता है। घर में बड़े-बड़े राजनीतिक लोगों का आना जाना था लेकिन वो हमेशा सादगी के साथ अपने कर्तव्यों का निर्वहन करते रहे। 
 
आध्यात्म के प्रति गहरी समझ और वहां के विकास की परिभाषा को जानने का हुनर उन्हें विरासत में मिला है। उनके दादा स्वर्गीय ब्रजबिहारी मिश्रा 1957 में आजमगढ़ की अतरौलिया विधानसभा से लगातार दो बार विधायक चुने गये। आध्यात्म के प्रति उनके प्रेम को देखते हुए तत्कालीन मुख्यमंत्री गोविंद बल्लभ  पंत ने उन्हें केदारनाथ बद्रीनाथ ट्रस्ट का अध्यक्ष बनाकर (उस समय यूपी का हिस्सा) जिम्मेदारी सौंप दी। उस दौरान उनके द्वारा किये गये विकास कार्य आज भी श्रद्धालुओं को सहूलियत देते है। 
 
वर्तमान में सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने शैलजाकांत मिश्रा को ब्रज तीर्थ विकास परिषद का उपाध्यक्ष बनाकर कृष्ण की नगरी के विकास की जिम्मेदारी सौंपी है। शैलजाकांत भी मुख्यमंत्री की उम्मीदों पर खरा उतरने की मुहिम में जुटे है। वो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छता अभियान और तीर्थ विकास में आम लोगों को जोडऩे की अनूठी पहल कर रहे है। युवाओं को इस मिशन से जोड़ रहे है। ब्रज के संतों से विकास के खाका पर मंथन कर रहे है। 
 
मोदी ने चुने योगी और योगी ने शैलजाकांत 
 
यूपी में भाजपा की भारी भरकम जीत के बाद सभी की निगाहें मुख्यमंत्री चयन पर लगी थी। तभी नरेंद्र मोदी ने योगी आदित्यनाथ को चुनकर सूबे की जनता के मन को जीत लिया। मुख्यमंत्री बनने के बाद योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में गाय, नदियों और तीर्थाे के विकास का वायदा किया। इसके लिये उन्होंने शैलजाकांत मिश्रा जैसे संत प्रवृत्ति के अधिकारी को चुना। लेकिन शैलजाकांत मिश्रा ने ब्रज में रहकर ही ब्रज के विकास की इच्छा जताई। इस पर मुख्यमंत्री ने शैलजाकांत को मुख्य सचिव का दर्जा देते हुए ब्रजविकास तीर्थ परिषद का उपाध्यक्ष बना दिया।