राम राज्य के साथ राम मंदिर भी चाहिए: डॉ. तोगड़िया

स्रोत: न्यूज़ नेटवर्क      तारीख: 05-Sep-2017

-देश में कहीं भी बाबर के नाम से एक ईंट भी स्वीकार नहीं ल्ल संविधान और न्याय व्यवस्था में हमारा पूरा विश्वास

आगरा, निज प्रतिनिधि। विश्व हिन्दू परिषद के अन्तर्राष्ट्रीय कार्याध्यक्ष डॉ. प्रवीण भाई तोगड़िया ने सोमवार को सूरसदन में आयोजित कार्यक्रम में कहा कि हिन्दुओं को आयोध्या स्थित रामजन्म भूमि पर अपने पूर्वजों का अधिकार चाहिए। हमें राम राज्य चाहिए और रामजन्म स्थान पर भव्य मंदिर भी चाहिए। वहां पर विदेशी आक्रमणकारी बाबर के नाम पर बाबरी मस्जिद कतई स्वीकार नहीं अपितु देश के किसी भी कोने में बाबर के नाम से एक ईंट भी स्वीकार नहीं है। यह हमारा दृढ़ संकल्प है।

उन्होंने कहा कि हमारा देश के संविधान और न्याय व्यवस्था में पूर्ण विश्वास है। हमें बताया जाएं कि दूसर पक्ष कौन है, किससे बात करें। कोई सामने आने को तैयार नही है। उन्होंने कहा कि हिन्दुओं का विश्वास है कि भगवान राम अयोध्या में जन्मे। उन्होंने कहा कि अगर बाबर की मस्जिद बनानी है तो पाकिस्तान में बनाएं। यहां बाबर की कोई औलाद नहीं है। राम जन्म स्थान पर राम मंदिर को लेकर अनेक प्रकार के जन आन्दोलन समय-समय पर हुए हैं, लेकिन हमारा दुर्भाग्य है कि हम अभी तक राम मंदिर नहीं बना पाए। मंच पर जैसे ही तोगड़िया आए भारत माता की जय, हिन्दू धर्म अमर रहे, महाराणा प्रताप की जय, हमारा भारत महान है, हर-हर महादेव और जय श्री राम के नारों से पूरा सूरदन गूंज उठा।