मोबाइल में पैनिक बटन की प्रयोगशाला बनेगा यूपी, 26 जनवरी से होगा ट्रायल

स्रोत: न्यूज़ नेटवर्क      तारीख: 02-Jan-2018

नई दिल्ली। मुसीबत में फंसी महिलाओं और बच्चों को तत्काल मदद पहुंचाने के लिए केंद्र सरकार 26 जनवरी से ऐतिहासिक डिजिटल कदम उठाने जा रही है। महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने मोबाइल फोन में पैनिक बटन की शुरूआत उत्तर प्रदेश से करने की घोषणा की है। प्रदेश में इसके सफल होने पर इसे देश के अन्य राज्यों में लागू किया जाएगा। 

महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका संजय गांधी ने मंगलवार को यहां बताया कि इस साल 26 जनवरी से उत्तर प्रदेश में मोबाइल फोन में पैनिक बटन का परीक्षण शुरू किया जाएगा। प्रदेश में इसके लिए सभी जरूरी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। उन्होंने कहा कि यदि यह प्रयोग उत्तर प्रदेश में सफल हो गया तो फिर यह देश में कहीं भी कारगर सिद्ध हो सकता है। उन्होंने बताया कि इस पैनिक बटन को आपातकालीन प्रतिक्रिया प्रणाली से जोड़ा जाएगा ताकि संकट के समय इसके इस्तेमाल पर तुरन्त घटनास्थल पर मदद पहुंचाने की व्यवस्था की जा सके। 

महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि मोबाइल फोन में पैनिक बटन सुविधा को चालू करने के लिए उपयोगकर्ताओं को अपने स्मार्ट फोन में एक मोबाइल एप डाउनलोड करना होगा। इसके बाद उनके फोन का पैनिक बटन सक्रिय हो जाएगा। अधिकारी के अनुसार गत वर्ष अगस्त माह के बाद जितने मोबाइल फोन बाजार में बिक्री के लिए आए हैं उनमें यह पैनिक बटन इनबिल्ट है अर्थात मोबाइल फोन के हार्डवेयर में ही मौजूद है। उन्होंने बताया कि फिलहाल यह सुविधा केवल स्मार्ट फोन में ही उपलब्ध होगी। दूसरे चरण में हम बेसिक फोन को भी इस सुविधा से जोड़ेंगे।