प्रदर्शनकारी छात्रों ने लगाए आरोप तो डीएसपी ने खुद को मारी गोली

स्रोत: न्यूज़ नेटवर्क      तारीख: 29-Jan-2018

अस्पताल में मौत, पुलिस कर्मी घायल

चंडीगढ़। पंजाब के फरीदकोट जिले के अंतर्गत आते जैतों इलाके में सोमवार की दोपहर पंजाब पुलिस के डीएसपी ने उस समय खुद को गोली मार ली जब वह प्रदर्शनकारी छात्रों को समझाने के लिए घटनास्थल पर गए थे। उपचार के दौरान डीएसपी की मौत हो गई जबकि उनका सुरक्षा कर्मी अभी भी अस्पताल में भर्ती है।

पंजाबी विश्वविद्यालय के जैतों स्थित कैंपस में दो छात्रों व एक छात्रा को पुलिस ने बस स्टैंड से उठाया था। इसके बाद उन्हें थाने ले जाया गया, जहां उनके साथ मारपीट की गई। इससे गुस्साए छात्रों ने मामले की शिकायत पुलिस उच्चाधिकारियों से करके कार्रवाई की मांग की थी। अभी तक एसएचओ पर कार्रवाई न होने से गुस्साए छात्रों ने सोमवार को विभिन्न संगठनों के साथ मिलकर रोष प्रदर्शन किया। 
वहां मौजूद पुलिस कर्मियों ने आला अधिकारियों को सूचित किया जिसके चलते डीएसपी बलजिंदर सिंह को पुलिस बल समेत मौके पर भेजा गया। छात्र गुटों ने डीएसपी बलजिंदर सिंह के समक्ष पुलिस पर कई तरह के आरोप जड़ते हुए कहा कि पुलिस इस मामले में कार्रवाई नहीं कर रही है। डीएसपी बलजिंदर सिंह दोनों छात्र गुटों के नेताओं को बीच-बचाव के लिए समझा ही रहे थे कि अचानक उन्होंने अपनी सर्विस रिवाल्वर निकाली और खुद को गोली मार ली। गोली लगने से डीएसपी बलजिंदर सिंह मौके पर ही ढेर हो गए जबकि छर्रे लगने से उनके बेहद करीब खड़ा एक पुलिस कर्मी घायल हो गया। मौके पर मौजूद पुलिस कर्मियों ने डीएसपी बलजिंदर सिंह को सिविल अस्पताल पहुंचाया जहां डाक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। पुलिस मामले की जांच कर रही है।