बांग्लादेश में बैठकर भारत में जाली नोटों का कारोबार चला रहा बबलु शेख

स्रोत: न्यूज़ नेटवर्क      तारीख: 12-Feb-2018

पाकुड़/नईदिल्ली/एजेंसी। बांग्लादेश में बैठे जाली नोटों के धंधेबाज पश्चिम बंगाल के रास्ते भारतीय अर्थव्यवस्था को ध्वस्त करने में लगे हुए हैं । इन धंधेबाजों ने पश्चिम बंगाल के सीमावर्ती इलाकों से लेकर देश के अन्य राज्यों में भी अपना नेटवर्क फैला रखा है । यह बात दीगर है कि आए दिन इनके गुर्गे पुलिस व अन्य खुफिया एजेंसियों के हत्थे चढ़ जाते हैं । मिली जानकारी के मुताबिक बांग्लादेश की सीमा पर अवस्थित पश्चिम बंगाल के मालदा व मुर्शिदाबाद जिलों के सीमावर्ती इलाकों में जाली नोटों के धंधेबाजों ने अपनी पकड़ मजबूत बना ली है। मालदा जिला के कालियाचक को तो लोग जाली नोटों के कारोबार की राजधानी तक कहने लगे हैं । 

बताते हैं कि मुर्शिदाबाद जिला के सूती थाना क्षेत्र में बहने वाली पद्मा नदी का भी इस्तेमाल ये लोग बखूबी करते हैं । कारोबारी जाली नोटों को बोरियों में पैक कर केलों के थंभ (पेड़) तथा लकड़ियों में बांधकर नदी में बहा देते हैं । वहीं भारतीय इलाकों में बैठे उनके गुर्गे मछलियां पकड़ने के बहाने दूर नदी में जाकर जाल के द्वारा छान लेते हैं । इलाके की पुलिस के अलावा खुफिया एजेंसियों ने भी कई बार गुप्त सूचना के आधार पर नदी के किनारे बने घाटों पर छापामारी कर दर्जनों लोगों को दबोचा भी है । सिर्फ इसी साल जनवरी में ही एक दर्जन लोगों को पकड़कर उनसे तकरीबन 35 लाख के जाली नोट जब्त किए गए हैं। 

 पांच फरवरी को समशेरगंज थाना की पुलिस ने धुलियान के फ्री नाव घाट पर छापामारी कर सादेकुल शेख व काबिरूल मियाँ को दो लाख के तथा धुलियान के डाक बंगला मोड़ से आरिफ शेख को एक लाख के जाली नोटों के साथ गिरफ्तार किया था । तीनों ही मालदा जिला के वैष्णवनगर थाना क्षेत्र के शोभापुर गांव का रहने वाला है। 

मिली जानकारी के मुताबिक इस धंधे का मुख्य सरगना बबलु शेख बांग्लादेश के खुलनाटेलकुपी में बैठकर धंधे को एजेंटों के जरिए अंजाम देता है, जो सीमावर्ती भारतीय इलाकों के मालदा, मुर्शिदाबाद जिलों के सूती, बहरमपुर, धुलियान, फरक्का, कालियाचक, मालदा, वैष्णवनगर आदि क्षेत्र व आसपास के इलाके में धंधा चलाता है । बताते चलें कि ऐसे लोगों में अधिकांश पूर्व से आ बसे बांग्लादेशी घुसपैठिए हैं जिनके पास दोनों देशों की नागरिकता के दस्तावेज वगैरह भी हैं, जो जरुरत पड़ने पर आसानी से इस पार से उस पार तक आते-जाते रहते हैं । उल्लेखनीय है कि गत 6 जनवरी को मुर्शिदाबाद जिले के सूती थाना की पुलिस ने छापामारी कर आहिरण मोड़ के पास बांग्लादेश के चांपाई नवाबगंज जिला के चरहासानपुर निवासी रकिबुल शेख को आठ लाख रुपये के जाली नोटों के साथ गिरफ्तार किया था । वह बहरमपुर के रानीपुर में रहकर धंधे को अंजाम दिया करता था । तीन वर्ष पाकुड़ के मुफस्सिल थाना की पुलिस ने भी अपने क्षेत्र के एक गाँव से एक बांग्लादेशी मवेशी तस्कर को एक लाख रुपये के जाली नोटों के साथ गिरफ्तार किया था । 
पाकुड़ एसपी शैलेंद्र प्रसाद वर्णवाल ने बताया कि मुख्य सरगना बबलु शेख बांग्लादेश में बैठकर भारत में जाली नोट का धंधा चला रहा है | सीमावर्ती पश्चिम बंगाल के इलाके में आए दिन पकड़े जा रहे जाली नोटों के कारोबारियों के मद्देनजर हम काफी चौकन्ने हैं । इसके लिए हमने पश्चिम बंगाल से सटे अपने पूरे इलाके की घेराबंदी कर रखी है । ताकि हमारे इलाके में कोई जाली नोटों का कारोबार न कर सके ।