विश्व की सबसे बड़ी भर्ती प्रक्रिया : रेल मंत्रालय में ग्रुप-सी के लिए निकलीं 90 हजार भर्तियां

स्रोत: न्यूज़ नेटवर्क      तारीख: 16-Feb-2018

नई दिल्ली। रेल मंत्रालय ने ग्रुप-सी के लेवल I और II के लगभग 90 हजार रिक्त पदों को भरने के लिए भर्ती शुरू कर दी है। ग्रुप-सी के लेवल एक को पहले ग्रुप डी में शुमार किया जाता था। इन पदों के लिए आवेदन की अंतिम तिथि 5 और 12 मार्च है जबकि कंप्यूटर आधारित एप्टीट्यूड टेस्ट (सीबीटी) परीक्षा अप्रैल-मई 2018 के दौरान होगी। 

रेल मंत्रालय के अनुसार ग्रुप-सी के लेवल II के तहत सहायक लोको पायलट, तकनीशियन (फिटर, क्रेन चालक, लोहार और बढ़ई) और ग्रुप-सी के लेवल I के तहत ट्रैक मैनटेनर, प्वाइंटेमैन, हेल्पर, गेटमैन, पोर्टर पदों के लिए ऑनलाइन आवेदन मांगे गए हैं। मंत्रालय का दावा है कि यह विश्व का सबसे बड़ा भर्ती अभियान है। मंत्रालय द्वारा घोषित 89409 पदों की भर्ती प्रक्रिया में ग्रुप-सी के लेवल I के पदों के लिए 10वीं और 12वीं पास तथा लेवल II के लिए 10वीं और आईटीआई, इंजीनियरिंग में डिप्लोमा, इंजीनियरिंग में स्नातक चाहिए। ये भर्तियां रेलवे भर्ती बोर्ड के जरिए की जाएंगी। 

रेल मंत्रालय ने ग्रुप सी लेवल II के लिए अधिसूचना संख्या सीईएन 01/2018 प्रकाशित की है। इसके लिए 18-28 साल के आयु वर्ग के उम्मीदवारों जिन्होंने 10वीं कक्षा उत्तीर्ण की है और औद्योगिक प्रशिक्षण प्रमाणपत्र (आईटीआई) या इंजीनियरिंग में डिप्लोमा या इंजीनियरिंग में स्नातक स्तर की पढ़ाई कर रखी है। वहीं ग्रुप सी लेवल I (पूर्ववर्ती समूह डी) के लिए अधिसूचना संख्या सीईन 02/2018 प्रकाशित की है। इसमें 18-31 वर्ष आयु वर्ग के उम्मीदवारों से आवेदन मांगे गए हैं जिन्होंने 10वीं कक्षा उत्तीर्ण कर रखी है और औद्योगिक प्रशिक्षण प्रमाणपत्र (आईटीआई) है। इस संबंध में आरआरबी वेबसाइट्स पर सूचनाएं पहले ही अपलोड की गई हैं। 

ग्रुप सी लेवल-II के पदों के लिए चयनित उम्मीदवारों को मासिक वेतन और भत्ता सातवें वेतन आयोग (स्तर 2) स्केल (19,900-63,200) के अनुसार दिया जाएगा। समूह सी लेवल I (पूर्ववर्ती समूह डी) पदों के लिए चयनित उम्मीदवारों को सातवें वेतन आयोग (स्तर 1) स्केल (18000- 56,900) के दिया जाएगा। ग्रुप सी लेवल II के लिए आवेदन 5 मार्च 2018 तक और ग्रुप सी लेवल I के लिए (पूर्ववर्ती समूह डी) के लिए 12 मार्च 2018 तक आवेदन स्वीकार किए जाएंगे। 

अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति के उम्मीदवारों के लिए कंप्यूटर आधारित एप्टीट्यूड टेस्ट, भौतिक क्षमता परीक्षण, भर्ती चरण के दौरान दस्तावेज़ सत्यापन के लिए फ्री स्लीपर क्लास रेलवे पास सुविधा उपलब्ध होगी।