प्रतिदिन करना चाहिए इन दो मंत्रों का जाप

स्रोत: न्यूज़ नेटवर्क      तारीख: 18-Mar-2018

व्यक्ति अपनी बुद्धि बढ़ाने के लिए अनेक प्रयत्न करता है लेकिन इसके बाद भी कोई उपाय कारगर नहीं होता है। क्या आपको पता है कि ज्योतिष शास्त्र में ऐसे कुछ सिद्ध उपाय हैं जिनके माध्यम से सिर्फ बौद्धिक क्षमता में ही विकास नही होता बल्कि व्यक्ति के उद्देश्यों की भी पूर्ति होने के साथ सम्मान और ख्याति में भी वृद्धि होती है। हम आपको यहां इन्हीं उपायों के बारे में बता रहे हैं............

गायत्री मंत्र समस्त प्रकार के लाभों को देने के अतिरिक्त बुद्धि विकास के लिए अत्यधिक लाभदायक हैं। गायत्री मंत्र का नित्य 1 माला जाप करने से बुद्धि बढ़ती है। गायत्री मंत्र से सभी को शुभ फल मिलता है लेकिन विद्यार्थियों के लिए यह मंत्र बहुत लाभदायक है। प्रतिदिन इस मंत्र का 108 बार जाप करने से विद्यार्थी सभी प्रकार की विद्या प्राप्त करने में आसानी होगी। विद्यार्थियों का पढ़ाई में मन न लगना, याद किया याद न रहना, शीघ्रता से याद न होना आदि समस्याओं से मुक्ति मिलती है।

किसी को कार्य, नौकरी में सफलता नहीं मिलती, आमदनी कम है और व्यय अधिक हैं तो गायत्री मंत्र का जप करना बहुत फायदेमंद हैं। शुक्रवार को पीले वस्त्र पहनकर हाथी पर विराजमान गायत्री माता का ध्यान कर गायत्री मंत्र के आगे और पीछे श्रीं सम्पुट लगाकर जप करने से गरीबी का नाश होता है। इसके साथ ही रविवार को व्रत किया जाए तो ज्यादा लाभ होता है।

ओम मंत्र का हल्के स्वर में नित्य जाप आपको हर प्रकार की मस्तिष्क सम्बंधी समस्या से दूर रख सकता है। चिंता, भय, भूलने की समस्या या अन्य मस्तिष्क रोग ओम का जाप करते ही गायब हो जाते हैं।