यूनिवर्सिटी ऑफ जार्डन में खुलेगा हिन्दी भाषा का केन्द्र

स्रोत: न्यूज़ नेटवर्क      तारीख: 03-Mar-2018

नई दिल्ली । अब खाड़ी देश जार्डन के प्रमुख विश्वविद्यालय यूनिवर्सिटी ऑफ जार्डन मे हिन्दी भाषा का केन्द्र खोला जाएगा जिससे जार्डन के लोग हिन्दी भाषा के साहित्य और उससे जुड़ी संस्कृति से रूबरु हो सकेंगे। इस संबंध में भारत-जार्डन के बीच एक समझौते पर गुरुवार को हस्ताक्षर हुए। ये समझैता जार्ज किंग अब्दुल्ला द्वितीय बिन-अल हुसैन और भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की उपस्थिति में हुआ।

उल्लेखनीय है कि भारत-जॉर्डन के बीच 12 समझौतों पर हस्ताक्षर हुए। ये समझौते जॉर्डन किंग अब्दुला द्वितीय बिन अल हुसैन औेर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की उपस्थिति में हुए। खाड़ी देश जॉर्डन के राजा अब्दुला द्वितीय बिन अल हुसैन से गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की आधिकारिक मुलाकात हुई। दोनों नेताओं ने दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित कार्यक्रम 'इस्लामिक हेरिटेज: प्रमोटिंग अंडरस्टैंडिंग एंड मॉर्डनाइजेशन' में हिस्सा लिया। इस मौके पर भारत में इस्लामी विरासत को लेकर एक लघु फिल्म का भी प्रदर्शन किया गया।

इससे पहले मेहमान जॉर्डन किंग के सम्मान में राष्ट्रपति भवन में एक समारोह का आयोजन हुआ, जहां राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद एवं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जॉर्डन किंग अब्दुला द्वितीय बिन अल हुसैन का स्वागत किया। जॉर्डन किंग को सेना की तीनों टुकड़ियों ने गार्ड ऑफ ऑनर दिया। राष्ट्रपति भवन के समारोह के अलावा किंग अब्दुल्ला राजघाट गए और राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की समाधि पर श्रद्धासुमन अर्पित किए।

ज्ञात रहे कि जॉर्डन किंग अब्दुला बिन अल हुसैन द्वितीय मंगलवार देर रात भारत आए। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने प्रोटोकॉल तोड़ते हुए जॉर्डन किंग की हवाई अड्डे पर पहुंचकर आगवानी की। जॉर्डन के राजा तीन दिन की भारत की आधिकारिक यात्रा पर हैं। उन्होंने बुधवार की सुबह विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मुलाकात की थी।