नगालैंड में कांग्रेस की हार के साथ उठने लगे बगावती तेवर

स्रोत: न्यूज़ नेटवर्क      तारीख: 03-Mar-2018

नई दिल्ली। पूर्वोत्तर के तीन राज्य त्रिपुरा, मेघालय और नगालैंड में वोटों की गिनती ( आज शनिवार को) जारी है। त्रिपुरा में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और माक्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा-लेफ्ट) की सरकार के बीच कांटे की टक्कर दिख रही है या ये कहें कि अब पूर्वोत्तर कांग्रेस मुक्त होने जा रहा है। इसलिए पार्टी में बगावत के सुर उठने लगे हैं। 

चुनाव आयोग के अनुसार, शुरुआती रुझानों में त्रिपुरा में भाजपा को बहुमत मिलता हुआ दिख रहा है। वहीं, कांग्रेस मेघालय में तो आगे है लेकिन नगालैंड में हार का सामना करना पड़ रहा है। नगालैंड में भाजपा की जीत पक्की होती दिख रही है। वहां नगा पीपुल्स फ्रंट बहुमत की ओर बढ़ रहा है। 

इस बीच नगालैंड में कांग्रेस की हार के साथ ही विरोध के सुर मखर होते दिख रहे हैं। कांग्रेस नेता तहसीन पूनावाला ने ट्वीट कर यहां तक कह दिया है कि त्रिपुरा कांग्रेस नेतृत्व के खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए? कांग्रेस नेता शहजाद पूनावाला के बाद उनके भाई तहसीन पूनावाला जोकि राहुल गांधी के रिश्तेदार भी हैं ने भी कांग्रेस नेतृत्व पर सवाल उठाते हुए कहा कि त्रिपुरा में जिस तरह से कांग्रेस नेतृत्व ने चुनाव में काम नहीं किया उन पर कार्रवाई होनी चाहिए। उन्होंने कहा, ‘मैं कांग्रेस का समर्थक हूं।’ चुनाव में खड़े उम्मीदवार जीते या हारे इससे फर्क नहीं पड़ता लेकिन हमें ईमानदार रहना चाहिए।

उल्लेखनीय है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के पूर्वोत्तर में चुनाव प्रचार के बावजूद मेघालय में भारतीय जनता पार्टी 3 सीट पर, कांग्रेस 19 सीटों पर, नेशनलिस्ट कांग्रेस केवल एक 1 सीट पर, हिल स्टेट पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी 1 सीट पर और नेशनल पीपुल्स पार्टी 17 सीटों पर आगे चल रही है। यूनाइटेड डेमोक्रेटिक पार्टी 4 सीटों पर और पीपुल्स डेमोक्रेटिक फ्रंट 3 सीटों पर पर आगे चल रही है। इसके अलावा निर्दलीय उम्मीदवार 2 सीट पर आगे चल रहे हैं।