10 से बजेगी शहनाई, शुरू होंगे मांगलिक कार्य

स्रोत: न्यूज़ नेटवर्क      तारीख: 04-Nov-2016


ग्वालियर,न.सं.। हिंदू मान्यता के मुताबिक चार महीने के शयन के बाद 10 नवंबर को देवउठनी एकादशी पर देव उठ जाएंगे। इसके बाद विवाह समारोहों व मांगलिक कार्यों की शुरूआत हो जाएगी। देवउठनी ग्यारस, बसंत पंचमी, अक्षय तृतीया विवाह के श्रेष्ठ मुहूर्त माने जाते हैं, लेकिन इस बार देवउठनी ग्यारस पर सामान्य मुहूर्त होने से इक्का-दुक्का विवाह ही हैं। अन्य माह में विवाह के श्रेष्ठ और सामान्य मुहूर्त हैं। इस बार सबसे ज्यादा और अच्छे मुहूर्त दिसम्बर, जनवरी और फरवरी में है। ज्योतिषचार्य पं. सतीश सोनी ने बताया कि कार्तिक शुक्ल पक्ष की एकादशी को देव उठनी एकादशी भी कहा जाता है।  इसी दिन से मांगलिक कार्यो की शुरूआत होगी।

दो माह में 16 मुहूर्त

श्री सोनी ने बताया कि पंचाग में नवंबर में विवाह मुहूर्त 11,12, 16, 23,24,25,30  के दिए गए हैं। वहीं दिसंबर माह में 1,3,4,8,9,10,12,13,14 को विवाह के शुभ मुहुर्त हैं।