मध्यप्रदेश
उत्तरप्रदेश
अन्य

और पढ़े

और पढ़े

और पढ़े

और पढ़े

और पढ़े

और पढ़े

और पढ़े

और पढ़े

और पढ़े

और पढ़े

और पढ़े

और पढ़े

और पढ़े

ज्योतिषाचार्य : ज्योतिर्विद ब्रजेन्द्र श्रीवास्तव

(रविवार 13 अगस्त से 19 अगस्त 2017 तक)

  • मेष

    मेष

  • वृष

    वृष

  • मिथुन

    मिथुन

  • कर्क

    कर्क

  • सिंह

    सिंह

  • कन्या

    कन्या

  • तुला

    तुला

  • वृश्चिक

    वृश्चिक

  • धनु

    धनु

  • मकर

    मकर

  • कुम्भ

    कुम्भ

  • मीन

    मीन

  • इस सप्ताह लघु यात्राएं अधिक हो सकती हैं तथा कारोबारी सम्पर्क, समझौते भी हो सकते हैं जो उपयोगी रहेंगे। समाजिक कार्यों में व्यय बढ़ेगा पर साथ ही कारोबारी लाभ भी आकस्मिक रूप से अच्छा रह सकता है। बौद्धिक कार्यों में प्रशंसा मिलेगी। सामाजिक, पारिवारिक क्षेत्र में बुधवार के लगभग असहमति का वातावरण रह सकता है जिसे आप शीघ्र सुलझा भी लेंगे। रवि, सोम, मंगल, गुरू, शनिवार लाभकारी व प्रसन्नतादायक हैं।

    " title="वृष" alt="वृष">

    वृष

  • आपकी राशि के स्वामी बुध का 17 जून तक व्यय भाव में संचार रहेगा जो इस अवधि में आपके खर्चे में वृद्धि करेगा। पारिवारिक माँग पर भी व्यय होगा। इस सप्ताह घर में मित्रों सम्बन्धीजनों का आवागमन बढ़ सकता है। भेंट उपहारों का आदान प्रदान भी हो सकता है। सप्ताह मध्य अजनबी लोगों से तथा गलत सलाह से सावधानी रखें। रविवार, सोमवार, मंगलवार, शुक्र, शनिवार प्रसन्नता धन लाभ और निजी आत्म संतोषदायक दिन रहेंगे।

    " title="मिथुन" alt="मिथुन">

    मिथुन

  • तुला

    तुला

और पढ़े

और पढ़े

और पढ़े

और पढ़े

और पढ़े

धूमधाम से मना स्वतंत्रता दिवस
यार्ड में खड़ी सुशासन की सामान्य बोगी धू-धू कर जली, खाक हुई एक बोगी
राजमाता विजयाराजे सिंधिया कृषि विश्वविद्यालय ग्वालियर के चतुर्थ दीक्षांत समारोह की झलकियां
कारगिल विजय दिवस 527 शहीदों को किया नमन
संभावना को संभव बनाता है शिक्षक: मुकुल कानिटकर
ग्वालियर की तरह पूरे देश में बनें आधुनिक पुलिस नियंत्रण कक्ष: तोमर
गिर्राजजी जाने के लिए उमड़ा भक्तों का रेला
पुलिस के पहरे में लगी ग्वालियर शहर में झाडू
अ.भा. साहित्य परिषद के राष्ट्रीय संगठन मंत्री श्रीधर पराडकर का नागरिक अभिनंदन
ग्वालियर की धरती से मध्यप्रदेश में साकार हुआ ‘मेक इन इंडिया’ का सपना
#स्वदेश होली मिलन समारोह 2017 की झलकियां .....

  • आजादी अधिकार ही नहीं, कर्तव्य और मर्यादा

    आजादी सभी चाहते हैं। पशु-पक्षी भी नहीं चाहते कि वे गुलाम रहें। फिर मनुष्य तो स्वभावतः आजाद ख्याल है। उसकी हमेशा से यह धारणा रही है कि उसके ऊपर कोई नहीं रहे। ..
  • कैसे समझेंगे हम स्वतंत्रता का महत्व

      - डॉ नीलम महेंद्र स्वतंत्रता केवल एक शब्द नहीं है, एक भाव है,एक एहसास है जो संतुष्टि और पूर्णता की भावना से ओतप्रोत होता है। अपने वर्तमान और अपने अतीत को देखते हुए हमारा दायित्व है कि अपनी आने वाली पीढ़ी को हम इस आज़ादी का महत्व बताएँ और आज..

और पढ़े