हाफिज सईद की रैली में नजर आये फिलिस्तीन के राजदूत

स्रोत: न्यूज़ नेटवर्क      तारीख: 30-Dec-2017

नई दिल्ली। भारत सरकार ने पाक में तैनात फिलिस्तीन के राजदूत द्वारा भारत में मुंबई आतंकी हमले के मास्टरमाइंड अंतर्राष्ट्रीय आतंकी हाफिज सईद की रैली में शिरकत करने पर कड़ी आपत्ति जताई है। भारत सरकार इस पूरे मामले को दिल्ली में तैनात फिलिस्तीन के राजदूत और फिलिस्तीनी अधिकारियों के सामने उठाएगी। पाक में फिलिस्तीन के राजदूत ने वहां रावलपिंडी में आतंकी हाफिज सईद के संगठन की रैली में मंच साझा किया था।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रविश कुमार ने कहा कि भारत सरकार को इस पूरे मामले की जानकारी मिली है। जिसके बाद भारत सरकार ने इस पूरे मामले पर कड़ी आपत्ति दर्ज करते हुए, इस मामले को दिल्ली में तैनात फिलिस्तीन के राजदूत एवं फिलिस्तीन में संबंधित अधिकारियों को उठाने का फैसला किया है।

मुंबई आतंकी हमलों के मास्टरमाइंड और भारत में लंबे समय से आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने रहे पाक आतंकी हाफिज सईद की ये रैली पाकिस्तान के रावलपिंडी शहर में आयोजित की गई थी। रावलपिंडी के लियाकत बाग में हुई इस रैली को एक पाक संगठन दिफाह-ए-पाकिस्तान काउंसिल ने आयोजित किया था। इस रैली में पाक में तैनात फिलिस्तीन के राजदूत वलीद अबू अली ने आतंकी हाफिज सईद के साथ मंच साझा किया है।

आतंकी हाफिज सईद को यूएस पहले ही अंतर्राष्ट्रीय स्तर का आतंकी घोषित कर चुका है। इतना ही नहीं हाफिज सईद पर अमेरिकी सरकार ने एक करोड़ रुपए का ईनाम घोषित किया है। अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर बढ़ रहे दबाव के चलते हाफिज सईद ने खुद को राजनीतिक नेता के रूप में दुनिया के सामने रखने की कोशिश की है। इतना ही नहीं, सईद ने पाकिस्तान में नई राजनीतिक पार्टी- मिनी मुस्लिम लीग बनाने की घोषणा की है। अब हाफिज सईद 2018 में पाकिस्तान में होनेवाले आम चुनावों की तैयारी करने लगा है। पाकिस्तानी सेना के प्रमुख रहे और बाद में पाकिस्तान की लोकतांत्रिक सरकार को गिरा कर राष्ट्रपति बने परवेज मुर्शरफ ने भी हाफिज सईद को समर्थन देने का एलान किया है।