झांसी शहर स्मार्ट सिटी मिशन में शामिल हुआ

स्रोत: न्यूज़ नेटवर्क      तारीख: 23-Jun-2017


लखनऊ। आज प्रदेश के जिन तीन नगरों को स्मार्ट सिटी मिशन में शामिल किया गया है, उनमें वीरांगना रानी लक्ष्मीबाई का शहर झांसी, क्राफ्ट नगरी अलीगढ़ एवं संगम नगरी इलाहाबाद शामिल हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्मार्ट सिटी मिशन में प्रदेश के तीन नए शहरों को शामिल किए जाने पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी तथा केन्द्रीय शहरी विकास मंत्री एम. वेंकैया नायडू का धन्यवाद जताते हुए केन्द्र सरकार के प्रति आभार व्यक्त किया है।

मुख्यमंत्री ने आश्वस्त किया कि प्रदेश सरकार स्मार्ट सिटी मिशन के तहत चयनित नगरों के विकास के लिए तेजी से काम शुरू कर उन्हें समय से पूरा कराने का हर सम्भव प्रयास करेगी। आज प्रदेश के जिन तीन नगरों को स्मार्ट सिटी मिशन में शामिल किया गया है, उनमें वीरांगना रानी लक्ष्मीबाई का शहर झांसी, क्राफ्ट नगरी अलीगढ़ एवं संगम नगरी इलाहाबाद शामिल हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि स्मार्ट सिटी मिशन के तहत लखनऊ, वाराणसी, कानपुर व आगरा को पहले ही सूचीबद्ध किया जा चुका है। मिशन के अनुरूप इन नगरों में कई परियोजनाओं को अन्तिम रूप देने की कार्रवाई तेजी से चल रही है। बीती 05 मई को लखनऊ में केन्द्रीय शहरी विकास मंत्री के साथ सम्पन्न बैठक का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि इस बैठक में प्रदेश के अन्य नगरों को स्मार्ट सिटी परियोजना के दायरे में लाने के लिए सम्भावित नगरों में तैयारी शुरू करने की बात कही गई थी।

स्मार्ट सिटी मिशन में अब कुल सात शहर हुए शामिल

उन्होंने इस बात पर खुशी जाहिर की कि केन्द्रीय शहरी विकास मंत्री ने अपने आश्वासन के अनुरूप मिशन के तहत चयनित किए जाने वाले सम्भावित नगरों पर गम्भीरता से विचार करते हुए यह निर्णय लिया है। नए नगरों को शामिल करते हुए उत्तर प्रदेश में स्मार्ट सिटी मिशन के तहत अब नगरों की संख्या सात हो गई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि शेष पांच नगर मेरठ, रायबरेली, गाजियाबाद, सहारनपुर व रामपुर को स्मार्ट सिटी मिशन परियोजना में शामिल कराने के लिए राज्य सरकार द्वारा गम्भीरता से प्रयास किए जाएंगे।

लापरवाही पर सख्त कार्रवाई से नहीं हिचकेगी सरकार

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि स्मार्ट सिटी मिशन के तहत शामिल नगरों में आधारभूत सुविधाओं एवं सेवाओं का विकास मानक के अनुरूप कराने के लिए कार्य शुरू कर दिया गया है। उन्होंने स्पष्ट किया कि राज्य सरकार इन नगरों के विकास में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों एवं कार्यदायी संस्थाओं के विरुद्ध सख्त कार्रवाई करने में कतई नहीं हिचकेगी। उन्होंने कहा कि स्मार्ट सिटी मिशन के तहत कराए गए कार्यों एवं उपलब्ध कराई जाने वाली सेवाओं के फलस्वरूप नगरों की स्थिति में पर्याप्त सुधार होगा, जिससे यहां के निवासियों को विश्वस्तरीय सुविधाएं उपलब्ध हो सकेंगी।


शिक्षा, स्वास्थ्य, सुरक्षा से लेकर मनोरंजन के होंगे इंतजाम
स्मार्ट सिटी मिशन के तहत प्रत्येक नागरिक को किफायती घर, प्रत्येक तरह की आधारभूत सुविधा, 24 घण्टे पानी एवं विद्युत आपूर्ति की व्यवस्था, शिक्षा के पर्याप्त विकल्प, सुरक्षा की आधुनिक सुविधा, मनोरंजन और खेल-कूद के साधन सहित अच्छे स्कूल और अस्पताल के अलावा, आसपास के क्षेत्रों से अच्छी और तेज कनेक्टिविटी की सुविधा उपलब्ध कराने की योजना बनाई गई है।