कांवड़िये डीजे लेकर नहीं चल पायेंगे, सुरक्षा पर जोर

स्रोत: न्यूज़ नेटवर्क      तारीख: 30-Jun-2017

वाराणसी। काशी पुराधिपति बाबा विश्वनाथ की नगरी में उनके प्रिय मास सावन की तैयारियां जोर-शोर से शुरू हो गयी है। 10 जुलाई से शुरू होकर 7 अगस्त तक श्रांवण मास के दौरान बाबा की नगरी में आने वाले कांवड़िए और शिवभक्तों की सुरक्षा के लिए जिला प्रशासन ने खाका खींचना शुरू कर दिया है। 
गुरुवार को जिलाधिकारी योगेश्वर राम मिश्र ने रायफल क्लब सभागार में अधिकारियों के साथ बैठक कर श्री काशीविश्वनाथ मंदिर एवं आसपास के क्षेत्र में बैरिकेटिंग कार्य को समय से पूरा कराये जाने की लोक निर्माण विभाग के अभियंता को निर्देश दिया। साथ ही मंदिर एवं आसपास सहित प्रमुख शिवालयों के पास से जर्जर विद्युत तारों को दुरुस्त कराये जाने को कहा।

जीटी रोड पर कांवरियों की भारी भीड़ को देखते हुए पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था के साथ यातायात व्यवस्था सुनिश्चत कराये जाने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने आईपीडीएस, नगर निगम, लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि गोदौलिया के आस-पास के क्षेत्रों में हो रहे कार्य को प्रत्येक दशा में 3 जुलाई तक पूरा करा ले। एनडीआरएफ के अधिकारियों को भी गंगा नदी में अपने जवानो एवं गोताखोरों को तैनात किये जाने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने बताया कि कांवर यात्रा के दौरान डीजे प्रतिबंधित रहेगा। उन्होंने विश्वनाथ मंदिर सहित प्रमुख शिवालयों में लगे सीसीटीवी कैमरों को पूरी तरह क्रियाशील रखने को कहा। बैठक में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक नितिन तिवारी, अपर जिलाधिकारी प्रशासन, अपर जिलाधिकारी नगर, अपर जिलाधिकारी प्रोटोकोल, पुलिस अधीक्षक नगर, पुलिस अधीक्षक यातायात, मुख्य चिकित्सा अधिकारी आदि उपस्थित रहे।