सीएम योगी ने गोरखपुर मामले में तोड़ी चुप्पी, कहा नहीं बख्शे जाएंगे गुनहगार

स्रोत: न्यूज़ नेटवर्क      तारीख: 12-Aug-2017

लखनऊ। गोरखपुर के बाबा राघव दास मेडिकल कॉलेज अस्पताल में बीते पांच दिनों में हुई 60 से अधिक बच्चों की मौत पर चौतरफा घिरी यूपी सरकार के मुखिया सीएम योगी आदित्यनाथ ने 28 घंटे बाद इस पूरे मामले पर अपनी सफाई दी। साथ ही योगी ने कहा कि गोरखपुर कांड के गुनहगार बख्शे नहीं जाएंगे। कुछ पर कार्रवाई हो चुकी है और बाकी पर कार्रवाई होनी बाकी है। उन्होंने कहा कि इस पूरे मामले की जांच चल रही है और जल्द ही रिपोर्ट सामने आएंगी। गोरखपुर कांड पर प्रेस कॉन्फ्रेंस कर शनिवार शाम यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सेफेलाइटिस के खिलाफ मुहिम की शुरुआत मैंने ही गोरखपुर से की थी। मुख्यमंत्री बनने के बाद मैंने दो बार बीआरडी कॉलेज का दौरा किया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी इस घटना से चिंतित है और हमें आश्वस्त किया कि सभी सहायता केंद्र की तरफ से की जाएगी।

खबरों में बच्चों की मौत को लेकर अलग-अलग आंकड़े जारी हुए हैं। मौत के सही आंकड़े, लापरवाही किस स्तर पर हुई, क्या ऑक्सिजन मौत की वजह है? इसकी अधिकारियों ने जांच की है। हमने शुक्रवार को ही इस पर न्यायिक जांच के आदेश दे दिए थे। हमारे मंत्रियों ने गोरखपुर जाकर तथ्य इकट्ठा किए हैं। ऑक्सिजन सप्लायर की भूमिका की जांच पर कमिटी गठित की है। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि ऑक्सिजन की कमी से मौत का मामला जघन्य है। कुछ पर कार्रवाई हुई है बाकी दोषी भी बख्शे नहीं जाएंगे। यूपी के 34 जिलों में इंसेफेलाइटिस का असर है। आप सब से मेरा आग्रह है कि एक संवेदनशील मामले में सही आंकड़े सामने आने चाहिए। मैंने अपने मंत्रियों से पूछा है कि मौत के आंकड़े और कारण क्या है।

गौरतलब है कि आदित्यनाथ ने कहा, गंदगी की वजह से ही इस देश का बच्चा असमय काल कलवित हो रहा है। इस बीच आदित्यनाथ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सराहना की और कहा कि कैसे उनके स्वच्छता अभियान के जरिए लोगों को गंदगी से मुक्त किया जा रहा है। आदित्यनाथ ने कहा, सरकार कभी समस्या नहीं बन सकती, वह तो समाधान हैं और खुद सरकार समस्या बन जाए तो उन्हें सरकार में बने रहने का कोई अधिकार नहीं।