रिश्वत ले रहे पुलिसकर्मी ने पत्रकार का मोबाइल छीना

स्रोत: न्यूज़ नेटवर्क      तारीख: 09-Aug-2017

 *मोबाइल में थी घटना की वीडियो रिकार्डिंग  आक्रोशित पत्रकारों ने दिया धरना
 *एसडीओपी ने 3 दिन में कार्रवाई करने का दिया आश्वासन

शिवपुरी ब्यूरो। फिजीकल थाने में  गत दिवस उस समय विवाद की स्थिति बन गई जब एक पुलिसकर्मी ने एक मीडियाकर्मी का मोबाइल छीनकर उसमें की गई वीडियो रिकॉर्डिंग को साफ कर दिया। आरोप है कि वीडियो में फिजीकल थाने में पदस्थ एचसीएम द्वारा  रिश्वत मांगे जाने तथा एक वृद्ध से दुर्वव्यहार की घटना रिकार्ड की गई थी।

इस घटना से आक्रोशित मीडियाकर्मियों ने थाने पर धरना देकर दोषी पुलिसकर्मियों को निलंबित करने की मांग की। स्थिति को भांपते हुए पुलिस अधीक्षक सुनील पांडेय और अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कमल मौर्य ने एसडीओपी जीडी शर्मा को मौके पर पहुंचाया जहां श्री शर्मा ने मीडियाकर्मियों को तीन दिवस के भीतर उक्त एचसीएम को दंडित कर विभागीय जांच बैठाने का आश्वासन दिया।
जानकारी के अनुसार गत दिवस दोपहर कुछ पुलिसकर्मी युवकों को पकड़कर थाने लाए थे। घटना का कवरेज करने पत्रकार सतेंद्र उपाध्याय थाने पहुंचे। मीडियाकर्मी का कहना है कि जहां पहले से मौजूद एक वृद्ध लक्ष्मणगिरी निवासी फक्कड़ कॉलोनी महिला से परेशान होकर शिकायत कर रहा था, लेकिन थाने में पदस्थ एचसीएम तुलाराम उससे 500 रूपए की मांग कर रहा था। यहां तक एचसीएम द्वारा उक्त वृद्ध के  साथ अभद्रता की जा रही थी। इस पूरी घटना की वीडियो रिकॉर्डिंग उक्त मीडियाकर्मी ने कर ली। जिसे आरक्षक सुरभि शर्मा ने देख लिया और मीडियाकर्मी के पास पहुंचकर उसका मोबाइल छीन लिया।

इस पर जब उसने अपना परिचय दिया तो उक्त आरक्षक ने उसे थाने में बंद करने की धमकी दी और उक्त वीडियो रिकॉर्डिंग को साफ कर दिया। इसकी जानकारी तुरंत ही अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कमल मौर्य को दी गई। साथ ही अन्य पत्रकारगण भी सूचना पाकर थाना परिसर में एकत्रित हो गए।  बाद में मामला तूल पकड़ने लगा और मौके पर थाना प्रभारी विकास यादव तथा एसडीओपी जीडी शर्मा पहुंच गए जिन्होंने एचसीएम को कक्ष में बुलाकर फटकार लगाई और उसके खिलाफ दंडात्मक कार्यवाही करने की बात कही। वहीं पीड़ित वृद्ध से रिश्वत मांगने संबंधी शिकायती आवेदन लेकर जांच शुरू कर दी है।