समाज को एकता के सूत्र में बांधें

स्रोत: न्यूज़ नेटवर्क      तारीख: 18-Sep-2017

ग्वालियर। युवा संगठन हो, चाहे पुरुषों का संगठन हो, सभी संस्थाओं का कर्तव्य है कि आज समाज अलग-अलग हिस्सों में बिखरता जा रहा है, उसको आपस में मिलकार एकता के सूत्र में बाधें। यह विचार आचार्य विनिश्चय सागर महाराज ने रविवार को प्रेरणा महोत्सव के तहत चिक संतर स्थित जैन धर्मशाला में आयोजित धर्मसभा को संबोधित करते हुए व्यक्त किए। इस अवसर पर विनिश्चय चातुर्मास कमेटी के मुख्य संयोजक हरिशचन्द्र जैन, मूलचन्द्र जैन, पंकज जैन, सह संयोजक प्रतीक जैन, नवीन जैन, अध्यक्ष इन्द्रेश जैन, संयुक्त मंत्री सचिन जैन आदि उपस्थित थे।