पाँच सौ दीपों से की गणपति की महाआरती

स्रोत: न्यूज़ नेटवर्क      तारीख: 04-Sep-2017

पछाड़ीखेड़ा रोड़ स्थित लाल बाग के राजा की तर्ज पर लगाई झांकी

अशोकनगर, ब्यूरो। पछाड़ीखेड़ा रोड़ पर श्री बाल गणेश झांकी समिति द्वारा डोल ग्यारस के अवसर पर महाआरती का आयोजन किया गया। जिसमें स्थानीय महिलाओं एवं बालिकाओं द्वारा आकर्षक दीपों की थाली सजाकर गणपति महाराज की आरती की गई। जिसमें सैकड़ों श्रृद्धालुओं ने पहुंचकर गणपति की आरती की। शनिवार वेदांत भवन गली में श्रीगणेश की स्थापना के सातवें दिन झांकी में महाआरती का आयोजन हुआ। जिसमें स्थानीय महिलाओं एवं बालिकाएं अपने-अपने घरों से दीपों की थाली आकर्षक रुप में सजाकर लाईं, जिसके बाद ढोल-ढमाके एवं शंख की गंूज के साथ भगवान श्रीगणेश की महाआरती की गई। जिसके बाद झांकी में भजन संध्या का आयोजन भी किया गया। जो देर रात तक चलता रहा। इस दौरान झांकी के सदस्यों ने श्वेत वस्त्र पहने हुए थे।  आरती के बाद प्रसाद वितरण किया गया। झांकी के सदस्य राजीव शर्मा ने बताया कि बाल गणेश झांकी समिति का यह 6वां स्थापना वर्ष है। हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी झांकी को आकर्षक रुप दिया गया है। झांकी में आकर्षक लाईटिंग की गई है एवं झांकी की विशेषता यह है कि मुंबई के लाल बाग के राजा की तर्ज पर झांकी का स्वरुप दिया गया है। जिसमें करीब 12 फीट की विशाल गणपति जी की प्रतिमा की स्थापना की गई है, जो सिंहासन पर विराजमान है। झांकी में ज्यादातर साज-सज्जा लाल रंग से की गई है। जो आकर्षण का केन्द्र है। उल्लेखनीय है कि प्रति वर्ष झांकी में कुछ अलग करने का प्रयास समिति के सदस्यों द्वारा किया जाता है। पिछले वर्ष बाहुबली गणेश एवं गुब्बारों व चुनरी का डेकोरेशन आकर्षण का केन्द्र रहा था। इस दौरान झांकी समिति के गौतम नायक, राजीव शर्मा, टिंकल मोरीवाल, दीपक रघुवंशी, विनोद नामदेव, सुधाकर नायक, सूरज मोरीवाल, अंकित नामदेव, छोटू नामदेव, आदित्य नायक, हर्षित मोरीवाल मौजूद थे।

इन्होंने सजाईं पूजा की थाली:
झांकी में दीपों की थाली सजाओ प्रतियोगिता का आयोजन भी किया गया। जिसमें साक्षी सुमन, साक्षी मोरीवाल, सोनाली मोरीवाल, आर्यिका काले, प्रियांसी सोनी, साधना तिवारी, हनी सोनी सहित जिसमें छोटी बालिका हिमी शर्मा, परी रघुवंशी भी थाली सजाकर लाईं थी। इन सजी हुई थालियों को लोगों ने खूब सराहा। यह थालियां झांकी में आकर्षण का केन्द्र रहीं। थालियों को दीपों एवं आकर्षक साज-सज्जा कर लाया गया था।