पेपर लीक : परीक्षा माफिया 2012 से सक्रिय था

स्रोत: न्यूज़ नेटवर्क      तारीख: 29-Mar-2018

नई दिल्ली। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की 10वीं और 12वीं कक्षाओं के प्रश्न पत्र लीक मामले को लेकर राजनीति शुरू हो गई है। सरकार का आरोप है कि परीक्षा माफिया पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार के कार्यकाल से सक्रिय थे| अब तो उन्हें गिरफ्तार किया जा रहा है। सरकार ने गुरुवार को कहा कि दोषियों को पकड़ने के लिए सभी उचित कदम उठाए जाएंगे। 

उल्लेखनीय है कि कांग्रेस ने केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर और सीबीएसई के वर्तमान अध्यक्ष को बर्खास्त कर पेपर लीक की जांच उच्च न्यायालय के मौजूदा न्यायाधीशों से करवाने की मांग की है। केंद्रीय मंत्री जितेन्द्र सिंह ने गुरुवार को यहां आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि परीक्षा माफिया 2012 से सक्रिय थे। उस समय हमारी सरकार नहीं थी। उन्होंने कहा कि यह गिरोह सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल कर ऐसी घटनाओं को अंजाम देता था। 
कर्मचारी चयन आयोग (एसएससी) की परीक्षा में कथित धांधली पर उन्होंने एसएससी का बचाव करते हुए कहा कि अभी तक पेपर लीक के प्रमाण नहीं मिले हैं।