रावण पर लगी रासुका हटाने को लेकर भीम आर्मी ने दी गिरफ्तारी

स्रोत: न्यूज़ नेटवर्क      तारीख: 08-Mar-2018

सहारनपुर। सहारनपुर में विगत दिनों हुए जातीय दंगों में जेल भेजे गए भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद उर्फ रावण पर लगी रासुका हटाने और रिहाई की मांग को लेकर कार्यकर्ताओं ने जिलास्तर पर जेल भरो आंदोलन के तहत गुरुवार को गिरफ्तारी दी। इससे पूर्व सभी कार्यकर्ताओं ने कलेक्ट्रेट पहुंचकर प्रदेश और केंद्र की भाजपा सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। साथ ही राष्ट्रव्यापी आंदोलन की चेतावनी दी है। 

पिछले साल 2017 में सहारनपुर में हुए जातीय दंगों में पुलिस प्रशासन द्वारा भीम आर्मी एकता मिशन के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद उर्फ रावण को आरोपी बनाते हुए जेल भेज दिया गया था। तभी से रावण जेल में बंद है। उस पर रासुका के तहत कार्रवाई की गई है। भीम आर्मी का कहना है कि चंद्रशेखर को साजिश के तहत फंसाकर जेल भेजा गया और रासुका लगाई गई।

विगत 18 फरवरी 2018 को सहारनपुर में आयोजित भीम आर्मी की जनसभा के तहत यह निर्णय लिया गया था कि 08 मार्च को प्रदेश के तीन राज्यों- उत्तर प्रदेश, हरियाणा और पंजाब में जिला स्तर पर कार्यकर्ताओं द्वारा जेल भरो आंदोलन चलाया जाएगा और गिरफ्तारी दी जाएंगी। इसी आंदोलन के तहत गुरुवार को भीम आर्मी के सैकड़ों कार्यकर्ता एकजुट होकर कलेक्ट्रेट पहुंचे और गिरफ्तारी दीं। इस दौरान भीम आर्मी के राष्ट्रीय प्रवक्ता मंजीत नौटियाल, जिलाध्यक्ष कमल वालिया ने कहा कि जब तक चंद्रशेखर पर लगाई गई रासुका को वापस नहीं किया जाता है, तब तक भीम आर्मी का आंदोलन जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि किसी भी कीमत पर दलितों का उत्पीड़न सहन नहीं किया जाएगा।